दबंगों की दबंगई जारी

बासित अंसारी की रिपोर्ट


देश का जवान अपनी जान की बाजी लगा कर
सीमा की सुरक्षा में हर वक्त बॉर्डर पर तैनात रहता है। लेकिन जब उसे अपने
परिवार की सुरक्षा के लिए पुलिस प्रशासन से गिड़गिड़ाना पड़े तो ये हम सब के लिए
शर्म की बात है। सरकार जहां महिला, बुर्जुग सुरक्षा की बात करती है।
वहीं ही प्रशासन महिलाओं की सुरक्षा तो दूर की बात

प्रयागराज के बहरिया थाना क्षेत्र के ग्राम खानपुर में जमुनी देवी अपनी
बीमार मां के साथ रहती हैं। और जमुनी देवी का पुत्र धीरज कुमार
भारतीय नौसेना में कार्यरत हैं। उपरोक्त महिला की पैतृक आवास , जमीन
पर उनके पड़ोस में ही रहने वाले घनश्याम यादव, राधेश्याम यादव, राहुल यादव
आदि ने जबरन कब्जा कर लिया है। और बिगत कुछ दिनों से उनके साथ गाली- गलौच
अमानवीय कृत्य, एवं जान से मारने का भी लगातार प्रयास किया गया।
इस सम्बन्ध में प्रार्थिनी ने थाने में तहरीर भी दी परन्तु विपक्षी राधेश्याम यादव
(यूपी पुलिस मे कार्यरत) अपनी विभागीय ताकत का दुरुपयोग करते हुए कोई कार्रवाई नहीं होने दे रहा है


यहां तक कि प्रार्थी के पुत्र धीरज कुमार (नौसेना में कार्यरत) को
भी फोन कर के बुरी तरह धमकाया। लिखित तहरीर के बावजूद बहरिया थाना क्षेत्र के दरोगा मनीष कुमार
ने कोई भी कार्यवाही से इंकार करते हुए प्रार्थिनी के साथ ही दुरव्योहार करते हुए भगा दिया।
हार थक कर कर प्रार्थिनी के पुत्र धीरज कुमार यादव ने भी पुलिस को सारी घटना से अवगत कराया, परन्तु अभी तक पुलिस की तरफ से कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया
जिसके चलते दबंगों का मनोबल बढ़ गया है दबंगों के द्वारा लगातार धमकियां मिल रही है वही पीड़ित परिवार डरा सहमा हुआ है वही पीड़ित ने शासन प्रशासन से जान माल की सुरक्षा की गुहार लगाई है।