You are currently viewing दान नही योगदान चाहिए।विकसित हिंदुस्तान चाहिए            —भैरु सिंह राठौड़

दान नही योगदान चाहिए।विकसित हिंदुस्तान चाहिए। —भैरु सिंह राठौड़।–

-01ईंट 01रु. के जनसहयोग से देवालय-शिक्षालय निर्माण।—श्रीराम नवमी तक योगदान करने वाला प्रत्येक व्यक्ति होगा पंजीकृत आजीवन सम्मानित सदस्य।भीलवाड़ा। वास्तव में दान स्वरूप गुप्त दान के रूप में ही सर्वोत्तम है परंतु इसी के आड़ में तमाम संगठन व लोग दान लेकर दानदाता को ही भूल जाते हैं जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण यह है कि किसी भी संस्था व व्यक्ति से उसे दान देने वालों का विवरण पूछिये तो कोई नही बता सकेगा परन्तु पीडब्ल्यूएस परिवार एकमात्र संगठन है जोकि अपने सभी दानदाताओं को अपना अभिन्न पंजीकृत आजीवन सम्मानित साथी मानकर उनके योगदान को अविस्मरणीय बनाता है। जानकारी के अनुसार पीडब्ल्यूएस परिवार के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी भैरु सिंह राठौड़ ने मीडिया को बताया कि उनका संगठन राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिकों से दान नही योगदान का आग्रह करता है। इस संगठन के द्वारा श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या परिक्षेत्र के गोरसरा शुक्ल (बस्ती) में एक ऐसे आदर्श आस्था के केंद्रीय व्यवस्था के रूप में देवालय व शिक्षालय की स्थापना की जा रही है जहां पर आम जनमानस के बच्चों को उत्तम शिक्षा के साथ ही निर्धन बेसहारा परिवारों को समुचित सहायता व उनके बच्चों को पूर्णतया निःशुल्क उत्तम शिक्षा उपलब्ध कराया जाएगा। इस देवालय-शिक्षालय के निर्माण हेतु आगामी पावन पर्व श्रीराम नवमी 21 अप्रैल 2021 को भूमिपूजन-शिलान्यास का कार्यक्रम सुनिश्चित है तथा उस दिन श्रीराम नवमी तक इसमे योगदान करने वाला प्रत्येक व्यक्ति इस व्यवस्था का पंजीकृत आजीवन सम्मानित सदस्य होगा। बता दें कि पीडब्ल्यूएस परिवार ने भारत में अद्वितीय लोकतांत्रिक व्यवस्था के अंतर्गत देवालय से सामाजिक व शिक्षालय से राष्ट्रीय वैचारिक महाक्रान्ति के महाअभियान के अंतर्गत राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिकों के मात्र 01ईंट 01रू. व आस्थानुसार यथोचित योगदान से देवालय-शिक्षालय का निर्माण करा रहा है। भैरु सिंह राठौड़ ने यह भी बताया कि व्यवस्था को अनवरत सुचारू रूप से संचालित करने हेतु संस्था द्वारा मात्र 01रु. प्रतिदिन व प्रतिमाह की सदस्यता भी प्रदान की जा रही है।