You are currently viewing FATEHPUR- पति की मौत से पत्नी का रो रो कर बुरा हाल मासूमों के सर से उठा बाप का साया

पति की मौत से पत्नी का रो रो कर बुरा हाल मासूमों के सर से उठा बाप का साया

यूपी फाइट टाइम्स
ठा. अनीष सिंह

फतेहपुर (ब्यूरो)– किशनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत मडौली गांव में एक युवक की मौत से पत्नी का रो रो कर बुरा हाल है तो वही तीन छोटे-छोटे मासूम बच्चों के सर से भी बाप का साया उठ गया है और अब उनके सामने बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई है ।
जानकारी के मुताबिक किशनपुर थाना क्षेत्र के मंडौली गांव निवासी रामचरण की मौत हो जाने से उसकी पत्नी का रो रो कर बुरा हाल है तो वही उसके तीन छोटे-छोटे मासूम बच्चे भी रो-रोकर बेहाल है ज्ञात हो कि रामचरण की शादी करीब 8 वर्ष पूर्व विद्या नाम की लड़की से हुई थी जिसके तीन छोटे-छोटे मासूम बच्चे भी थे जिसकी अचानक बीमारी के चलते मौत हो गई जिससे अब उसकी पत्नी के सामने बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई है ज्ञात होगी कमलेश निषाद के चार लड़के हैं सभी लड़कों की शादी हो चुकी हैं और सभी मां बाप से अलग रहते हैं लेकिन कमलेश निषाद का इस लड़के रामचरण की स्थित अच्छी नहीं थी यह परदेश मे रहकर कमाता था जिससे इनका पेट चलता था लेकिन लाकडाउन के चलते रामचरण का परदेश भी जाना बंद हो गया था अभी हाल ही में पिछले महीने हुई बारिश से इसका मकान भी धराशाई हो गया था जिसके बाद या अपने बच्चों को सर छुपाने के लिए झोपड़ी डालकर रहने लगा था दो-तीन दिन पूर्व यह बुखार जैसी बीमारी से ग्रसित हुआ इसके बाद परिजन इसे लेकर इलाज के लिए खागा में एक निजी हॉस्पिटल ले गए जहां डॉक्टरों ने हालत को गंभीर देखते हुए रेफर कर दिया जिससे परिजन इसे इलाज के लिए लेकर प्रयागराज में एक निजी अस्पताल पहुंचे जहां डॉक्टरों ने इस युवक को मृत घोषित कर दिया जिसके बाद पति की मौत की खबर सुनने के बाद से पत्नी का रो रो कर बुरा हाल हैं वही रामचरण के तीन छोटे-छोटे मासूम बच्चे भी हैं जिसमें से दो लड़कियां व एक छोटा सा लड़का है तीनो बच्चे छोटे छोटे है जिनके सर से बाप का साया उठ गया है और अब उन्हें दो वक्त की रोटी के लिए लाले पड़ गए हैं न तो रहने के लिए घर है न खाने के खाना ऐसे में इनकी देखभाल कौन करेंगा क्या ऐसे में सरकार इनकी मदद करती है या नहीं ।