You are currently viewing FATEHPUR- सालो बीतने के बाद भी मनरेगा मजदूरों की मजदूरी का पैसा बाकी

सालो बीतने के बाद भी मनरेगा मजदूरों की मजदूरी का पैसा बाकी

मेहनत का पसीना बहाने वाले मजदूरों के पैसे मे गमन का अंदेशा

यूपी फाइट टाइम्स
ठा. अनीष सिंह

फतेहपुर (ब्यूरो)– विजयीपुर विकासखंड के ग्राम पंचायत मडौली में सालों बीत जाने के बाद भी मनरेगा मे पसीना बहाने वाले मजदूरों की मजदूरी अभी तक नहीं मिली है जिससे मजदूरों को अब अपनी मजदूरी का पैसा गमन होने का अंदेशा सताने लगा
जानकारी के मुताबिक ज्ञात हो कि सरकार द्वारा लोगों को रोजगार के नाम पर मनरेगा योजना के तहत रोजगार देने का काम किया गया था जिसमें गरीब वर्ग के लोग मेहनत मजदूरी करके अपना परिवार चला सके लेकिन अब उस पर भी अब मजदूरी का पैसा गमन होने का अंदेशा मजदूरों को सताने लगा ताजा मामला विजयीपुर विकासखंड के ग्राम पंचायत मडौली का है जहां साल भर पहले मजदूरों से चिलचिलाती धूप में मजदूरी करवाई गई थी लेकिन करीब डेढ़ साल बीत जाने के बाद भी लोगों की मजदूरी का पैसा अभी तक नहीं मिल सका है और लोगों द्वारा मजदूरी पर बहाया गया पसीना बेकार जा रहा है मडौली गांव निवासी जितेंद्र सिंह ने बताया कि मंडौली ग्राम पंचायत में करीब डेढ़ साल पहले मनरेगा के तहत कार्य कराया गया था लेकिन अभी तक लोगों को मजदूरी का पैसा नहीं मिल सका है और अब उन्हें अपने मजदूरी के पैसे को गमन होने का अंदेशा सताने लगा है वही मंडौली गांव निवासी जितेंद्र सिंह ने यह भी बताया कि कई बार मजदूरों ने ग्राम प्रधान व रोजगार सेवक से मनरेगा की मजदूरी के लिए पैसे भी मांगे लेकिन ग्राम प्रधान व रोजगार सेवक द्वारा हर बार ग्रामीणों को यह कहकर टाल दिया जाता है कि जब सरकार द्वारा पैसा दिया जाएगा तब आपका पैसा मिल जाएगा जिसको लेकर जितेन्द्र सिंह ने यह भी बताया कि आने वाली संपूर्ण समाधान दिवस पर करीब सैकड़ों की तादाद में मजदूर जिलाधिकारी से मामले की शिकायत करेंगे
अब सोचने वाली बात यह है कि क्या सरकार द्वारा कराए जा रहे कार्य में पसीना बहाने वाले मजदूरों की मजदूरी शालो बीतने के बाद मिलती है या फिर मजदूरों द्वारा किए गए कार्य का पैसा निकल कर गमन हो चुका है ।