FATEHPUR- कर्ज में डूबे किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

किशुनपुर थाना क्षेत्र के नरैनी गांव में सुबह 9 बजे महेंद्र कुमार पुत्र रमाशंकर सबिता उम्र 37वर्ष ने जंगल में आम के पेड़ पर रस्सी से फंदा लगाकर फांसी लगाकर जान दी। सूचना पर परिजन जंगल पंहुचे पत्नी रन्नो देवी दहाड़ मार कर रोने लगी। पत्नी ने बताया कि बड़ी बेटी सानिया की शादी इसी वर्ष किया था। जिसमें किराने की दुकान भी टूट चुकी थी और दो समूहों से 30,30 हजार रुपए भी लिए थे।समय से कर्ज न चुका पाने की वजह से चिंता में रहते थे।इसी लिए जान दे दी। गांव के ही किसान श्यामलाल कुर्मी की दो बीघे जमीन बंटाई पर लेकर खेतों में धान की फसल लगाई थी।घर से सुबह खेत देखने की बात कहकर निकले थे। परिवार में दो बेटे व तीन बेटियां हैं जिसमें बड़ी बेटी सानिया की शादी हो चुकी है। और आदर्श 10, सलोनी 8,आंचल 6,मानव3वर्ष का रो रोकर बुरा हाल है। सूचना पर विजयीपुर चौकी प्रभारी मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।