समर्थ किसान पार्टी ने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए किसान अध्यादेश का विरोध किया है। पार्टी नेता अजय सोनी ने इस विधेयक को लेकर कई तरह के सवाल और आशंकाएं जाहिर की है। अजय सोनी के मुताबिक कोरोना महामारी के आपदा के बीच केंद्र सरकार किसानों को हर तरह से बर्बाद करने का काम कर रही है।

अजय सोनी ने इस विधेयक को पूरी तरह से किसान विरोधी और उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने वाला बताते हुए कहा कि इस विधेयक के लागू होने के साथ ही किसानों के बुरे दिन शुरू हो गए हैं। अब किसान मजबूरी में बड़े उद्योगपतियों के हाथों कठपुतली बन कर रह जाएगा और बड़े पैमाने पर किसानों के उत्पाद का उसे नुकसान झेलना पड़ेगा।

इसी के साथ अजय सोनी ने केंद्र सरकार से सवाल किया कि क्या किसानों की आय दुगुनी करने के मुद्दे से किसानों का ध्यान भटकाने के लिए इस विधेयक को लाया गया है…?

अजय सोनी ने कहा कि इस विधेयक के लागू होने से कुछ ही सालों में कृषि क्षेत्र में भी बड़े उद्योगपतियों का अप्रत्यक्ष कब्जा हो जाएगा और किसान बर्बाद हो कर खून के आंसू बहायेगा।

अजय सोनी ने केंद्र सरकार से सवाल किया कि किसानों को नुकसान पहुंचाने वाले विधेयक तो तमाम लाए जा चुके हैं, आखिर किसानों को लाभ पहुंचाने वाले विधेयक कब लाए जाएंगे…?