किसान संगठनों एवं समाजसेवी ने अन्ना प्रथा को लेकर सौंपा ज्ञापन

चित्रकूट
व्यूरो चीफ बालकृष्ण विश्वकर्मा

3 दिन मे समस्याओं का होगा निदान-विपिन कुमार सिंह

चित्रकूट/पहाड़ी:-पहाड़ी चित्रकूट विकासखंड में विभिन्न किसान संगठनों ने प्रदर्शन एवं बैठक करते हुए खंड विकास अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर अन्ना मवेशियों से छुटकारा दिलाने का मांग किया है। खंड विकास अधिकारी विपिन कुमार सिंह ने अन्ना प्रथा समस्या को गंभीरता से लेते हुए कहा कि 3 दिन के अंदर गोवंश गौशाला के अंदर कराते हुए अन्य समस्या का निदान किया जाएगा। कुछ ग्राम पंचायतों में स्थानों में जगह ना होने के कारण दूसरे जगह गोवंश को शिफ्ट किया गया है।भारत उदय संस्थान के सचिव आशीष सिंह रघुवंशी ने ज्ञापन में बताया कांटी सिकरी हर्रा कुचरम चौरा देवल कलवारा बुजुर्ग कलवारा खुर्द आगराहुडा रामपुर भानपुर ब्योहरा ओरा बसहर पिलखिनी, दरसेडा ममसी बुजुर्ग, गडौली, लमियारी बरेठी औदहा, पथरा मानी लोहदा सगवारा, पनौटी आदि गांव में कई महीनों से अन्ना पशुओं के कारण किसानों की फसल बर्बाद हो रही है जिसके चलते किसान बेहद परेशान हैं। ज्ञापन के माध्यम से कहा कि अगर अन्ना पशुओं को गौशाला में जल्द नहीं रखा गया तो विवस होकर ब्लॉक मुख्यालय में भूख हड़ताल करने के लिए मजबूर होंगे। इसी क्रम में भारतीय किसान यूनियन (भानु) संगठन के प्रभारी जय सिंह परिहार अध्यक्ष, आकाश

सिंह पटेल, ने खंड विकास अधिकारी को ज्ञापन सौंपते हुए बताया पहाड़ी विकास खंड के गांव में अन्ना जानवर जोरों पर हैं। पूर्व में गांव में बने स्थाई व अस्थाई गौशाला जैसे कि छछेरिहा बुजुर्ग, जरिहा, कपना, इटौरा, बाबूपुर की कई महीनों से गौशाला पूरी तरह से ठप पड़े हैं।जिसके कारण आज किसानों को दिन-रात कड़ी मेहनत करने के बावजूद फसल सुरक्षित नहीं समूचे किसान कर्ज से डूबा है। किसानी एकमात्र साधन जिससे अपना भरण-पोषण एवं कर्ज अदा करने के लिए किसान भाई रात दिन मेहनत कर रहे हैं। तथा कहा कि जल्द अगर समस्या का समाधान नहीं हुआ तो आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।नवयुवक सेवा दल ने अन्ना प्रथा को लेकर ज्ञापन सौंपा इस मौके पर अर्जुन प्रसाद सत्येंद्र सिंह जय सिंह बबलू हनुमत उपाध्याय आशुतोष मिश्रा रंजन प्रसाद उपाध्याय रामजी उपाध्याय अजय कुमार शुभराती राजेंद्र प्रसाद आदि मौजूद रहे।भारतीय किसान यूनियन के तहसील अध्यक्ष राज किशोर सिंह पटेल की अध्यक्षता में अन्ना प्रथा को लेकर ब्लॉक मुख्यालय में बैठक संपन्न हुई। संगठन के पदाधिकारियों ने बताया जिला प्रशासन के स्पष्ट आदेश के बाद भी कई महीनों से अन्ना प्रथा जोरों में है।कोरोना महामारी से किसान परेशान हैं।इन परिस्थितियों में कई महीनों से अन्ना जानवरों को गौशाला में रखे जाने के लिए ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया जा चुका है परंतु जिलाधिकारी एवं शासन के आदेश निर्देशों का पालन ग्राम पंचायत में नियुक्त सचिव एवं ग्राम प्रधान द्वारा कोई पालन नहीं किया जा रहा।जिससे अन्ना प्रथा के चलते छुट्टा जानवर किसानों की फसलों को नष्ट कर रहे हैं। जल्द अन्ना समस्या से निजात दिलाने की खंड विकास अधिकारी को ज्ञापन सौंपते हुए किसान समस्या को निजात दिलाए जाने की मांग किया है।मौके पर ब्लॉक अध्यक्ष राज किशोर सिंह पटेल अरुण कुमार पांडे उदय नारायण सिंह आधा सैकड़ा किसान मौजूद रहे। खंड विकास अधिकारी विपिन कुमार सिंह ने सभी से ज्ञापन लेते हुए आश्वासन दिया कि किसान हितों को देखते हुए 3 दिनों के अंदर समस्त अन्य पशुओं को गौशाला के अंदर किया जाएगा। आम जनमानस से अपील किया कि अन्ना प्रथा समस्या को जन सहयोग जन प्रशासन की भागीदारी अति आवश्यक है तमाम ग्राम पंचायतों में गौशाला निर्माण कराया गया है। जिसमें 22 सरकारी 42 निजी जमीन में एक्टिवेट कर दिया गया। गांव के सभी ग्रामीणों से अपील करते हुए कहा कि अपने अपने पालतू पशुओं को अन्ना खेतों में नहीं छोड़े। अपने पालतू पशुओं को बांध कर रखें। जन सहभागिता से अन्ना प्रथा से निजात मिल सकती है।