You are currently viewing FATEHPUR- गला दबाकर प्रेमिका की हत्या प्रेमी गिरफ्तार

फतेहपुर।भागने की जिद कर रही किशोरी को उसके प्रेमी ने दोस्त की मदद से गला घोंटकर हत्या कर दी और शव को भूसे की झाल में भरकर कुएं में फेंक दिया। संदेह पर पकड़े गए प्रेमी की निशानदेही पर पुलिस ने 19 दिन बाद शव सड़ांध युक्त शव को कुएं से बरामद कर लिया। हत्यारोपित प्रेमी ने जुर्म स्वीकार करते हुए कहा कि भागने की जिद कर किशोरी उसके नलकूप आ गई लेकिन लॉकडाउन के चलते उसने भगा ले जाने में असमर्थता जताई तो वह झगड़ने लगी, इसी बात से क्षुब्ध होकर उसने एक दोस्त की मदद से उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी और शव को कुएं में फेंक दिया।

असोथर थाने के एक गांव निवासिनी 17 वर्षीय किशोरी गत 07 अप्रैल को रात घर से गायब हो गई जिस पर स्वजन उसे ढूंढते रहें लेकिन वह नहीं मिली। जिस पर पीड़ित पिता ने अज्ञात में भगा ले जाने की एफआइआर दर्ज करा दी और संदेह दिनेश सिंह भदौरिया पुत्र स्व. भल्ला पर जताया। मुकदमा दर्ज कर पुलिस उसे खोजती रही। बताते हैं कि एक दिन पूर्व दिनेश पुलिस के हत्थे चढ़ गया। सख्ती से पूछताछ में पुलिस ने उसकी निशानदेही पर कुएं से किशोरी का शव बरामद किया। शव भूसे की झाल से लिपटा हुआ था और उसका मुंह दुपट्टे से बंधा था। खबर पाकर सीओ रामप्रकाश घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ित स्वजनों से मिले।
हत्यारोपित प्रेमी दिनेश सिंह भदौरिया ने पुलिस को बताया की बटाईदार प्रेमनारायण की मदद से 7 अप्रैल की देर रात किशोरी की गला घोंटकर हत्या कर दी थी क्योंकि वह गांव से भगा ले जाने की जिद कर रही थी जबकि लॉकडाउन चल रहा था। इसी वजह से उसे रास्ते से हटा दिया। एसओ हेमराज सरोज का कहना था कि अज्ञात में दर्ज अपहरण के मुकदमें को हत्या में तरमीम कर प्रेमी व इसके दोस्त को नामजद कर प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया गया है।
हत्यारोपित व किशोरी के बीच करीब एक वर्ष पूर्व से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनो के बीच मोबाइल में बातचीत होती थी। बताते हैं कि लड़की के घर वालों को संदेह था तभी उन्होंने बेटी के न मिलने पर दिनेश सिंह पर ही भगा ले जाने का संदेह जताया था लेकिन पुलिस को वह नहीं मिल रहा था। एसओ ने कहा कि इनके मोबाइल नंबरों को खंगालकर स्वजनों से पूछताछ की जा रही है।