FATEHPUR- नारी शक्ति का ग्राम प्रधान ने कराया एहसास बिना सहायता के प्रवासी मजदूरों को कराया खिचड़ी भोज

संवाददाता – ठा. अनीष सिंह

चौडगरा फतेहपुर जनपद में मलवां विकासखंड में कोविड-19 वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के चलते कई संभ्रांत नागरिकों ने विषम परिस्थितियों में देश को मजबूती प्रदान करने के लिए छोटा सा अंश दान करके लोगों को गरीब शोषित वंचित परिवारों व प्रवासी मजदूरों की मदद करने के लिए प्रेरित करते हुए खाद्य सामग्री सहित nh2 नेशनल हाईवे से गुजरने वाले लोगों को भोजन की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के बाद मौहार ग्राम प्रधान रीना देवी बच्चे रुची, शिखा,विकास सिंह, हरिओम के साथ शनिवार को नेशनल हाईवे से दो डीसीएम के माध्यम से गुजर रहे भूखे प्यासे प्रवासी मजदूरों को खिचड़ी की तत्काल व्यवस्था सुनिश्चित करा कर खिचड़ी का भोजन कराया गौर करने वाली बात यह है कि उस समय ग्राम प्रधान प्रतिनिधि देवेंद्र सिंह गौतम मनरेगा मजदूरों के साथ ग्राम सभा में कराए जा रहे कार्यों की देखने के लिए घर के बाहर थे। प्रवासी मजदूरों का दुख भरा चेहरा देखते ही ग्राम प्रधान ने स्वयं ही अपने को आगे करते हुए बच्चों के साथ खिचड़ी पकाते हुए समुचित व्यवस्था कराई। बिना पुरुष के इतनी बड़ी व्यवस्था करना नारी सशक्तिकरण के तौर पर देखा जा रहा है। जो क्षेत्र में चर्चा का विषय है आम ग्रामीणों में चर्चा है कि बिना पुरुष के ही इतने बड़े पैमाने पर भोजन की व्यवस्था वैकल्पिक सुनिश्चित कराना हैरतअंगेज व सराहनीय है। जो नारी शक्ति का एहसास कराते हुए। सचमुच जनता का प्रतिनिधित्व करने की क्षमता का बोध कराती है। जो काबिले तारीफ है।

प्रतिनिधि देवेंद्र सिंह गौतम ने बताया कि गैरमौजूदगी में प्रवासी मजदूरों को भोजन कराने से आत्मबोध हुआ है। विषम परिस्थितियों का सामना व निर्णय लेने की क्षमता विशेषता है।