FATEHPUR- मदद को किया फोन तो अब तक कहां थी –  अधिकारियों के बोल

मदद को करो फोन तो अब तक कहा थी- अधिकारियों के बोल

यूपी फाइट टाइम्स
फतेहपुर संवाद ।।

फतेहपुर, प्रशासन लगातार जहां लोगों की मदद करने की बात कह रहा है वहीं दूसरी तरफ उसकी बातें केवल ढकोसला ही नजर आ रही हैं यह तब देखने को मिला जब फतेहपुर जिले के अंबिया लक्ष्मणपुर ब्लॉक तेलयानी गांव की रहने वाली विकलांग महिला राजकुमारी पत्नी कैलाश का नाम राशन कार्ड विभाग ने काट दिया गोद में 1 माह का बच्चा है और शरीर चलने लायक नहीं फिर भी किसी तरीके से अपना जीवन यापन कर रही थी लेकिन अब उसका यह सहारा भी बंद हो गया लाक डाउन की वजह से घर से निकलना भी दूभर है साधन भी बंद है किस तरीके से वह अधिकारियों से अपनी गुहार लगाए इसके बाद भी उसने अपनी हिम्मत नहीं हारी और जिले के एक अधिकारी को फोन पर अपनी समस्या बताएं लेकिन वहां पर अधिकारी का बयान उसे केवल इतना ही सुनने को मिला कि अब तक कहां थी । अगर अधिकारी इस तरीके से लोगों के मनोबल को तोड़ेंगे तो क्या यही समाज सेवा है क्या इसीलिए उनको अधिकारी का पद दिया गया है या इसी तरीके से वह लोगों की मदद करेंगे 6 दिन से परिवार भूखा है किसी तरीके से अपना गुजर-बसर कर रहा है प्रधान से लगातार खाद्यान्न की मांग कर रहा है कोटेदार के पास दौड़ भाग कर रहा है लेकिन किसी भी तरह से उसको कोई मदद नहीं मिल रही क्या *सरकारी विभागों की जिम्मेदारी नहीं ऐसे लोगों की मदद की जाए जो लॉक डाउन में अपना जीवन यापन नहीं कर पा रहे हैं, लगातार समाज सेवा करते हुए समाजसेवी फोटो खींचा कर पोस्ट कर रहे हैं वीडियो वायरल कर रहे हैं लेकिन उन लोगों को ऐसे लोग नजर नहीं आएंगे जिनकी मदद अति आवश्यक है जिनको उनकी सच्ची मदद की जरूरत है ना ही प्रशासन सहयोग के लिए आगे आ रहा है ना ही कोई समाजसेवी नजर आ रहा है ।