FATEHPUR- रात के अंधेरे में पुलिस की मिलीभगत से होता है अवैध मिट्टी खनन

देशभर में जहां कोरोना संक्रमण से लोग परेशान चल रहे हैं वहीं खनन माफियाओं के भी हौसले पुलिस की मदद से बुलंद होते नजर आ रहे हैं जिसमें एक कहावत है सैंया भएं कोतवाल तो डर काहे का।जानकारी अनुसार आपको बता दें मामला कल्यानपुर थाना क्षेत्र के हाईवे से 500 मीटर दूरी पर अहिरनखेडा गांव के पास का है जहां हप्तों से चल रही पीली मिट्टी खनन की जानकारी पुलिस को मिलती रही मगर अभी तक कोई भी कार्यवाई नहीं की गई साथ ही मौके पर चल रहे खनन कार्य को लेकर जब सूचनाकर्ता द्वारा पुलिस को दी गई तो पहले तो सूचनाकर्ता को मौके पर पंहुचने को कहा गया बाद में मौकेपर पुलिस पंहुचकर वापस आ गई और बात करने पर कोई न कोई बहाना बनाकर मामले को टाल मटोल किया गया वहीं इस वाक्या से सूचनाकर्ता के साथ कोई बड़ी अनहोनी हो सकती थी जिसको लेकर यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है कि पुलिस की गाड़ी पंहुचते ही बिना कोई कार्यवाई के ही पुलिस की टीम बेरंग वापस लौट गई जिसमें खनन माफियाओं द्वारा सूचनाकर्ता के साथ कोई बड़ी घटना को अंजाम दिया जा सकता था अगर देखा जाए तो कल्याणपुर थाना क्षेत्र में कई जगह हो रहा है अवैध पीली मिट्टी का खनन जिसमें उठ रहे हैं प्रशासन के ऊपर बड़े सवाल