You are currently viewing FATEHPUR-  लॉकडाउन का फायदा उठा चांदी काट रहे क्षेत्रीय दुकानदार

कोरोना वायरस जैसी महामारी को लेकर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूरे देश में 14 अप्रैल तक के लिए लाकडाउन किया गया था जिसके बाद हालत को बिगड़ता देख प्रधानमंत्री ने निर्देश देते हुए लाकडाउन की सीमा बढ़ाकर 3 मई कर दी और लोगों को अपने घरों में रहने की अपील की गई जिसके बाद लोग अपने घरों में रहने लगे तो वही लाकडाउन का फायदा उठा क्षेत्रीय दुकानदार महंगे रेटों में उपयोगी सामग्री बेच चांदी काट रहे हैं मिली जानकारी के अनुसार किशनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत पहाड़पुर मडौली गढीवा मझगवां जैसी दर्जन भर गांव की छोटी सी बड़ी दुकानों में उपयोगी सामग्रियां महंगी रेटों में बेची जा रही हैं जिससे ग्रामीण इलाके की जनता परेशान है आपको बता दें कि लाकडाउन जारी होने के बाद ग्रामीण इलाके की जनता पुलिस के भय के कारण बाजार जाने में डर महसूस करती है जिसका फायदा इस समय ग्रामीण इलाकों के दुकानदार उठा रहे हैं और ₹10 की सामग्री को ₹15 में बेच चांदी काट रहे हैं ऐसा कहीं एक गांव की दुकान पर नहीं किशनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत दर्जनभर गांवों के करीब आधा सैकड़ा दुकानदारों का यही हाल है और तो और योगी सरकार द्वारा गुटखा पान मसाला पर रोक लगाए जाने के बाद भी धड़ल्ले से खुलेआम महंगे रेटों में गुटखा पान मसाला बेचा जा रहा है जहां ₹5 विमल की कीमत थी आज वही विमल की कीमत ₹15 हो गई है जहां लोगों को उपयोगी सामग्री जैसे साबुन तेल मसाला जैसी चीजें प्रिंट रेट में उपलब्ध होती थी आज वही प्रिंट रेट से 2 गुना भाव पर जनता को खरीदना पड़ रहा है जिसके चलते ग्रामीण इलाकों की जनता पर सरकार के प्रति काफी आक्रोश है वहीं ग्रामीण इलाकों की जनता दुकानदारों की कालाबाजारी से परेशान है और ग्रामीण इलाकों की दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का कोई महत्व नहीं दिखाई दे रहा है सुबह से ही दुकानों पर लोग जमा हो जाते हैं और तो और लोग बेवजह ही दुकानों के आसपास बैठ आपस में खूब मौज मस्ती करते हैं जिससे सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां खुले आम उड़ाई जा रही हैं ।