FATEHPUR- खनन माफियाओं के आगे ओवरलोडिंग का सिलसिला रोकने में प्रशासन पड़ा ढीला

*जनपद में नहीं थम रहा ओवरलोडिंग का सिलसिला*

*ओवरलोड वाहनों ने सड़क के उड़ाए चिथड़े*

यूपी फाइट टाइम्स

ठा. अनीष सिंह

*फतेहपुर(ब्यूरो)*- जनपद में ओवरलोडिंग का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है और खनन माफिया धड़ल्ले से ओवरलोड वाहन सड़कों पर दौड़ा रहे हैं जिससे सड़कों की दुर्दशा बदतर हो गई है और राहगीरों का निकलना दूभर हो गया है जनपद में नए आए जिलाधिकारी को लेकर आम जनमानस में आस जगी थी कि शायद अपने तीखे मिजाज के लिए जाने जाने वाली जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे इन खनन माफियाओं पर शिकंजा कसने पर कामयाब होंगी लेकिन महीनों बीत जाने के बाद भी इन खनन माफियाओं पर कार्यवाही नहीं हुई जिसके चलते इनके हौसले और भी बुलंद है और यह सड़कों पर धड़ल्ले से ओवरलोड वाहन दौड़ा रहे हैं । ताजा मामला फतेहपुर जनपद के किशनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत मझिगवां वा गढी़वा का मोरम खदान का है जहां पर खनन माफियाओं द्वारा एनजीटी के नियमों की धज्जियां उड़ा कर अवैध तरीके से कराया जा रहा है और सड़कों पर ओवरलोड वाहन दौडाए जा रहे हैं जिससे आम जनमानस पूरी तरीके से परेशान है जानकारी के मुताबिक खनन माफियाओं द्वारा रात के अंधेरे में यमुना नदी का सीना छलनी कर यमुना नदी के बीच से भारी भरकम मशीनों से खनन कराया जा रहा है जो नियमों के विरुद्ध है वहीं सड़कों की बात की जाए तो सड़कों के हाल बदतर हो गए दिन-रात इन सड़कों पर ओवरलोड वाहन दौड़ते हैं जिससे सड़क पूरी तरीके से टूटकर बिखर गई है वही सड़कों पर दिनभर धूल उड़ती नजर आती है जिससे सबसे ज्यादा समस्या स्कूली छात्र छात्राओं को होती है पर इन सब पर प्रशासन की नजर नहीं पड़ती सबसे ज्यादा समस्याएं खनन माफियाओं के जरिए स्कूल जाने वाली छात्राओं को हो रही है जो इस समय धूल भरी रास्ता से बचने के लिए जंगल से गुजरने वाले रास्ता का सहारा ले रही हैं जहां उन्हें मनचलों का डर बना रहता है कि आखिर कब उनकी इज्जत के साथ मनचले खिलवाड़ कर बैठे उन्हें खुद नहीं पता पर प्रशासन इन खनन माफियाओं पर शिकंजा नहीं कस रही है इसका कारण यह है कि यह लोग या तो सत्ता के दबाव में खनन करा रहे हैं या फिर कोई ऐसा सिस्टम जिस सिस्टम के पीछे प्रशासन सिर्फ गोल मटोल बातें कर रहा है हैरान करने वाली बात तो तब सामने आती हैं जब जिम्मेदारों के आवास के सामने से ओवरलोड वाहन गुजरते हैं पर जिम्मेदारों को यह सब कुछ नहीं दिखाई देता है ।