FATEHPUR- रामानन्द सागर जी को भारत रत्न दिये जाने की सरकार से की अपील: अमित पाण्डेय

रामानन्द सागर जी को भारत रत्न दिये जाने की सरकार से की अपील: अमित पाण्डेय
रामायण को चलचित्र के रूप में जनमानस के मन मस्तिष्क में उतारकर हमारे आराध्या भगवान राम के जीवन को आदर्श रूप के माध्यम से संस्कृति और संस्कारों को समाज में उतारने का बहुत ही सराहनीय कार्य पूज्यनीय रामानन्द सागर जी के द्वारा किया गया है हम उनके इस अमूल्य कार्य एवं योगदान के लिए ऋणी हैं, आज भगवान राम के मंदिर के कार्य एवं प्रत्येक कुंभ के आयोजन के साथ जो भक्ति की धारा बहती दिख रही है उसमें रामानन्द सागर जी का अमूल्य योगदान है। हम जब भी पूजा पाठ करने बैठते हैं तब भले ही उस परमात्मा रूपी भगवान को याद करते हैं लेकिन हमारे मन, मस्तिष्क में छवि वही उभरती है जो रामायण धारावाहिक में दिखाए गये हैं। आज जब हमारे सामने कोरोना जैसी भयानक महामारी आयी और सरकार ने लॉकडाउन किया था तब रामायण ने ही लोगों का सहारा बनी थी और टीवी जगत में सबसे ज्यादा देखे जाने का रिकार्ड भी बनाया है।
सरकार ने जब श्रेष्ठ शहनाई वादक उस्ताद बिस्मिल्लाह खान जी को उनके कला के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिये उनको भारत रत्न दिया था तो मेरी सरकार से विनम्र निवेदन व माँग है कि आने वाली रामनवमी को रामानन्द सागर जी को भी उनके अमूल्य योगदान के लिए भारत रत्न दिये जाने की घोषणा करें।