FATEHPUR- मान सिंह तीसरी बार बने प्रधान, हुई ऐतिहासिक जीत

मान सिंह तीसरी बार बने प्रधान, हुई ऐतिहासिक जीत

कोई खुद तो कोई अपने समर्थको को जिताने में सफल विजयीपुर। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में कोई तीन बार तो कोई दो बार चुनाव जीतकर अपनी अलग ही पहचान बनाया है। कुछ ग्राम पंचायतों में सीट बदलने की वजह से अपने समर्थकों की जीत सुनिश्चित कराई है। जो इस प्रकार है- धाता ब्लाक के तुलसीपुर ऐरई गांव के पूर्व प्रधान मान सिंह पटेल कुल 1016 मत पाकर एकतरफा ऐतिहासिक जीत हासिल किया। आसपास कोई भी प्रत्याशी नही पहुंच सका। पहली बार किसी प्रत्याशी ने 735 मतों से किसी को हराया है। दूसरे नंबर पर पूर्व प्रधान शंकर निषाद की पत्नी ऊषा देवी 281 मत रही। मान सिंह पहली बार 2005, 2010 में प्रधान बने थे। इसी प्रकार विजयीपुर ब्लाक के बहुचर्चित ग्राम पंचायत पहाड़पुर के निवर्तमान प्रधान मदन सिंह यादव लगातार दूसरी बार प्रधान बने हैं। उनके घर में 1990 से लगातार प्रधानी है। इसी प्रकार गोदौरा के निवर्तमान प्रधान शिवपत सिंह ने अपनी समर्थक राजपति देवी को दो मतों से विजयी बनाया। इसी प्रकार मड़ौली की निवर्तमान प्रधान शिवचंद्र निषाद की पत्नी सुमन देवी दोबारा, त्रिलोचनपुर के मनोज त्रिवेदी, अमनी से प्रधान प्रतिनिधि हिन्दलाल यादव की पत्नी मन्नो देवी, ब्योटी के निवर्तमान प्रधान मेवालाल ने अपनी माता गुलबिया देवी, रायपुर भसरौल से पूर्व प्रधान रामकृष्ण यादव ने अपनी बहू किरण देवी पत्नी मुलायम सिंह यादव को प्रधान जिताया। इसी प्रकार सरौली से निवर्तमान प्रधान अतुल सिंह दोबारा प्रधान बने। चचीड़ा से रेशमा सिंह पत्नी अजय सिंह अपने प्रतिद्वंद्वी केशमती पत्नी विष्णु पाल से 32 वोटों से जीते।सैदपुर भुरुही से सबसे युवा 26 वर्षीय प्रधान बृजेन्द्र सिंह बने। रक्षपालपुर से मालती देवी पत्नी निवर्तमान प्रधान महेंद्र सिंह बनी।रारी से पूर्व प्रधान राजकुमार यादव बने। महेशपुर मठेठा से पूर्व प्रधान सुदेश सिंह अपनी पत्नी आकृति देवी को जिताने में सफल रहे। असहट से निवर्तमान प्रधान ज्ञानचंद्र निषाद ने अपनी सीट बचाकर कब्जा बनाये रखा।