FATEHPUR- बेटी के हाथ पीले करने के लिए पिता माग रहा अनुमति

*संवाददाता – ठा. अनीष सिंह*

फतेहपुर।लॉक़डाउन में बेटी की शादी टूटने के डर से एक पिता परमीशन के लिए थाने से लेकर डीएम दफ्तर कर भटक रहा है। वह सशर्त अनुमति दिए जाने के लिए गिड़गिड़ाता रहा लेकिन उसे हर जगह दुत्कार मिली। बुधवार को वह गांव के लोगों के साथ डीएम दफ्तर अपनी फरियाद लेकर गया लेकिन सुरक्षा गार्डों ने उसे अधिकारी से मिलने नहीं दिया। वह कलक्ट्रेट से रोता हुआ वापस लौट गया।
खखरेरू थाना क्षेत्र के उमरा निवासी रोशन लाल लोधी की बेटी की शादी तय है। 18 मई को थरियांव क्षेत्र से बारात आनी है लेकिन लाकडाउन के कारण वर पक्ष ने बारात लाने से डर रहे है। रोशन लाल ने ग्राम प्रधान से शादी के लिए अनुमति दिलाने की मदद मांगी लेकिन उसने कोई मदद नहीं की। वह खखरेरू थाने पहुंचा, जहां से उसे खागा तहसील से परमीशन मिलने की बात कर लौटा दिया गया। बतौर रोशन लाल वह गांव के एक व्यक्ति की बाइक में खागा गया, जहां उसकी किसी ने नहीं सुनी। एसडीएम दफतर में कर्मचारी से अधिकारी तक अपनी पीड़ा बताता रहा है लेकिन किसी ने सुध नहीं ली। बुधवार को दो पड़ोसियों को लेकर एसपी दफ्तर पहुंचा। जहां उससे आधार कार्ड और शादी का कार्ड की मांग की गई।प्रपत्र अधूरे होने पर उसे डीएम के पास भेज दिया गया।रोशन ने बताया कि वह डीएम साहब से मिलने के दफ्तर गया लेकिन गार्ड से अंदर जाने से रोक दिया। वह काफी देर अफसर से अपनी पी़डा बताने के लिए बैठा रहा लेकिन हताश होकर लौट आया। उसने बताया कि वह 15 दिन शादी की परमीशन के लिए दौड़ रहा है। शादी के कुछ दिन बचे हैं, लेकिन कोई उसकी नहीं सुन रहा। उसे दो लोगों की तीन लोगों की ही अनुमति प्रशासन दें देे। शर्त के उल्लंघन करने पर जो भी सजा होगी उसे मंजूर है। अनुमति नहीं मिलने पर बेटी की शादी टूटने के डर से उसका पूरा परिवार परेशान है।