FATEHPUR- बाहर से आए लोगों को क्वॉरेंटाइन कराना बना बड़ी चुनौती

यूपी फाइट टाइम्स
ठा. अनीष सिंह ।।

जहां एक तरफ पूरा देश कोरोना वायरस के चलते त्राहि-त्राहि कर रहा है गांव गांव सैनिटाइजर का छिड़काव करें बीमारी से बचाव अभियान जारी है वहीं लाकडाउन के दौरान जो बाहर से लोग अपने घरों के लिए लौट रहे हैं उन्हें गांव के बाहर 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है ताकि कोरोनावायरस जैसी महामारी से बचा जा सके पर बाहर से आए लोग क्वॉरेंटाइन सेंटर को महज एक मजाक समझ धड़ल्ले से बाहर घूम रहे हैं और कोरोना जैसी महामारी को दावत दे रहे हैं मिली जानकारी के अनुसार किशनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत चंदापुर गांव में बने प्राथमिक विद्यालय पर बाहर से आए मजदूरों को क्वॉरेंटाइन कराया जा रहा है लेकिन वह लोग क्वॉरेंटाइन सेंटर को मजाक समझ कर खुलेआम घूम रहे हैं और लोगों के बीच बैठकर आपस में चर्चा करने हैं इस बात को लेकर ग्रामीणों में काफी नाराजगी है ग्रामीणों का कहना है कि ग्राम प्रधान द्वारा गांव के अंदर ही क्वॉरेंटाइन सेंटर बना दिया गया जिससे बाहर से आए लोग क्वॉरेंटाइन का उल्लंघन कर गांव में घूमते हैं और लोगों से मिलते हैं जिससे कोरोनावायरस जैसी महामारी का खतरा गांव में मडरा रहा है ऐसा ही हाल विजयीपुर ब्लाक के अंतर्गत ग्राम पंचायत मडौली मैं बने क्वॉरेंटाइन का है जहां पर बाहर से आए लोगों को क्वॉरेंटाइन कराया गया लेकिन वह लोग क्वॉरेंटाइन को महज एक मजाक समझ कर गांव में खुलेआम घूमते हैं घर के लोग उन्हें खाना देने के बहाने जाकर उनके पास आपस में बैठकर बातचीत करते हैं अब सवाल यहां पर यह उठता है इस महामारी से बचाव के लिए जहां सरकार लाखों रुपए खर्च करती है वही गांव के अंदर क्वॉरेंटाइन सेंटर क्यों बनवा दिए जाते हैं क्या कोरोना जैसी महामारी को फैलाने के लिए गांव के अंदर क्वॉरेंटाइन सेंटर बनवाए जाते हैं जिससे कि गांव में भी कोरोना का कहर जारी हो सके ।