You are currently viewing FATEHPUR- विजयीपुर ब्लाक में भ्रष्टाचार का बोलबाला कोई नहीं है रोकने वाला

विजयीपुर ब्लाक में भ्रष्टाचार का बोलबाला कोई नहीं है रोकने वाला

विजयीपुर/फतेहपुर- विजयीपुर ब्लाक में भ्रष्टाचार के विरुद्ध एसडीएम डीएम प्रमुख सचिव मुख्य सचिव मंडलायुक्त एवं मुख्यमंत्री से शिकायत करने के बावजूद भी भ्रष्टाचार पर लगाम नहीं लग रही है जहां आए दिन कमीशन रिश्वत बिना दाम के काम ना करने की शिकायत हो रही है परंतु सभी विभागीय जिम्मेदार एवं जनप्रतिनिधि मौन है और भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं
गढ़ा क्षेत्र के मुकेश कुमार त्रिपाठी द्वारा आज जिलाधिकारी से शिकायती पत्र देते हुए बताया कि हमारे कैटल सेट भुगतान में मनरेगा कंप्यूटर ऑपरेटर विनय श्रीवास्तव द्वारा पैसे की मांग की गई मांग न पूरी होने पर हमारा भुगतान रोक दिया गया और हमारी फाइल गुम होने की बात कही गई जिससे मैं पीड़ित होकर जिला अधिकारी मुख्य विकास अधिकारी से से लिखित शिकायत पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई गौरतलब है कि विजयीपुर ब्लाक में भ्रष्टाचार के विरुद्ध सैकड़ों शिकायत के बाद हरीश इंटरप्राइजेज फर्म के मालिक हरीश श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल समेत तहसील समाधान दिवस मुख्य विकास अधिकारी जिलाधिकारी प्रमुख सचिव मुख्य सचिव मंडल आयुक्त समेत उच्च अधिकारियों को रजिस्ट्री के माध्यम से शिकायत कर बताया कि हमारी फर्म द्वारा क्षेत्र की एक दर्जन ग्राम पंचायतों में इंटरलॉकिंग के निर्माण मे सीमेंट का ईट जिगजैग भिजवाया गया है जिसका भुगतान कमीशन ना देने के कारण नहीं किया जा रहा है शासन द्वारा होली में 1287 करोड का बजट भी भेजा गया था परंतु ब्लॉक की सभी ग्राम पंचायतों का भुगतान हो गया सिर्फ जिन गांव में हमारे फर्म से काम कराया गया है उन कामों का भुगतान नहीं कराया जा रहा है जिसमे खंड विकास अधिकारी गोपीनाथ पाठक द्वारा एक रुपए प्रति ईट की दर से कमीशन मांगा जा रहा है कमीशन ना देने पर ईट के क्वालिटी की जांच के बाद भुगतान करने की बात कही जा रही है जबकि इसी फर्म से नगर पंचायत किशनपुर खागा एवं ऐराया और धाता ब्लाक में काम कराया गया है जिसका भुगतान तत्काल हो गया है
वही पूरे मामले में मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश ने बताया मामले की जांच की जाएगी जांच कर संबंधित फर्म का भुगतान कराया जाएगा