FATEHPUR- दहेज उत्पीड़न का मुकदमा लिख कर भूल गई पुलिस

दहेज उत्पीड़न का मुकदमा लिख कर भूल गई पुलिस

यूपी फाइट टाइम्स
ठा. अनीष सिंह

फतेहपुर(ब्यूरो) – ललौली थाना क्षेत्र के दतौली गांव निवासी राकेश कुमार ने अपनी पुत्री अंजना का विवाह बांदा जनपद के जसपुरा थाना क्षेत्र के गगौली गांव निवासी रमेश पुत्र भूरा से किया था जिस पर अंजना के पिता ने अपनी हैसियत के अनुसार दान दहेज भी दिया था पर ससुराली जन अत्यधिक लालच के कारण उसकी बिटिया को आए दिन परेशान वह प्रताड़ित करने लगे उनकी ओर से पचास हजार रुपये व एक मोटरसाइकिल कूलर आदि की मांग करने लगे जिसकी पूर्ति राकेश कुमार नहीं कर पाया , ससुराली जन उसकी बेटी को आए दिन मारने पीटने लगे , व शादी के 2 वर्ष तक उसकी बेटी को मायके नहीं भेजा , इसी बीच अंजना देवी गर्भवती हो गई , ससुराली जनों की प्रताड़ना व आएं दिन हो रही मारपीट से अंजना देवी की तबियत बिगड़ गई , जिस पर अंजना के पति रमेश ने उसको यमुना घाट किनारें छोड़ कर चले गए , बिटिया के परिजनों को जब इसकी जानकारी हुई , तो वह अपनी बेटी को लिवा कर लाएं , व दवा इलाज करवाया , व इसी दौरान अंजना देवी की तबियत बिगड़ जाने की वजह से उसकी मृत्यु हो गई ..
दहेज उत्पीड़न में 28 नवंबर 2020 को अंजना की मां शुशीला देवी ने तहरीर देकर ललौली थानें में अपने दामाद रमेश कुमार पुत्र भूरा सहित ससुर भूरा , सास माया देवी , प्रमोद पुत्र भूरा , कल्लू पुत्र लल्लू , मनोज पुत्र भूरा पर दहेज उत्पीड़न के सम्बंध में मुकदमा दर्ज कराया था , पर ललौली थाने की पुलिस ने मुकदमा दर्ज होने के दो माह बीत जाने के बाद भी , कोई कार्यवाही करना मुनासिब नहीं समझा ।
इस घटनाक्रम के सम्बंध में पीड़िता अंजना देवी की माँ शुशीला देवी ने जिले के नवनियुक्त पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल से न्याय की गुहार लगाई हैं।
पीड़िता की माँ शुशीला देवी का कहना है कि आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं व पीड़िता के घरवालों को केस वापस लेने का दबाव बना रहे हैं , मना करने पर जान से मार डालने की धमकी भी दे रहे हैं।
वही इस सम्बंध में जब विवेचना अधिकारी सुरेंद्रपाल यादव उपनिरीक्षक ने बताया कि घटनाक्रम के सम्बंध में मुकदमा पंजीकृत कर 4 व्यक्तियों को नोटिस तामील कराई जा चुकी हैं , शेष दो आरोपी बाहर हैं जल्द ही आने पर नोटिस तालीम करवा कर विधिक कानूनी कार्यवाही की जाएंगी ।