FATEHPUR- कल होगा कई महारथियों के भाग्य का फैसला प्रत्याशियों की बेचैनी बढ़ी

कल होगा कई महारथियों के भाग्य का फैसला प्रत्याशियों की बेचैनी बढ़ी

यूपी फाइट टाइम्स
ठा. अनीष सिंह

फतेहपुर(ब्यूरो)– जनपद में 26 अप्रैल को हुए पंचायत चुनाव के बाद सभी योद्धाओं की किस्मत मतपेटियों पर कैद हो गई थी और सभी अपनी-अपनी गणित लगाकर जनता के रुझान को जान अपनी-अपनी जीत का दावा ठोक रहे थे लेकिन अब वह समय करीब आ गया है जब योद्धाओं के भाग्य का फैसला होने वाला है जिसको लेकर प्रत्याशियों व समर्थकों की धड़कन तेज हो गई है और अब यह बेचैनी परिणाम आने के बाद ही खत्म होने वाली हैं ।
जानकारी के मुताबिक फतेहपुर जनपद में 26 अप्रैल को हुए तृतीय पंचायत चुनाव के बाद अब मतगणना का इंतजार सभी को बेसब्री से हो रहा है जिसका समय बहुत ही करीब आ चुका है ज्ञात हो कि सरकार द्वारा जारी मतगणना की तारीख 2 मई रखी गई है जिसको लेकर प्रत्याशियों व समर्थकों की बेचैनी बर्दाश्त नहीं हो रही है बता दें कि इस पंचायत चुनाव में कई योद्धाओं की साख दांव पर लगी है और कई बड़े-बड़े योद्धाओं ने पंचायत चुनाव में अपने हाथ आजमाएं है लेकिन जनता ने किस पर विश्वास जताया है इसका फैसला कल 2 मई को होगा 26 अप्रैल के बाद से हुए मतदान के बाद सभी प्रत्याशी अपनी-अपनी जीत का दावा ठोक रहे थे लेकिन मैदान पर रहे सभी पहलवानों में से एक को ही विजय प्राप्त होती है लेकिन यह बिजय बिना जनता के प्राप्त होने वाली नहीं है अब देखना यह है कि किस ग्राम पंचायत से जनता ने किस पहलवान पर विश्वास जताया है वही ज्ञात हो कि प्रशासन द्वारा प्रत्याशियों की जीत के बाद किसी भी प्रकार का जुलूस निकालने पर रोक लगा दी गई है और कोविड-19 के नियमों के तहत एक प्रत्याशी का सिर्फ एक ही मतगणना अभिकर्ता मतगणना स्थल तक पहुंच पाएगा जिसको लेकर प्रशासन ने भी कमर कस ली है और प्रशासन द्वारा शांतिपूर्ण ढंग से मतगणना कराने का प्रयास जारी है अब देखना यह है कि मतगणना के बाद किसके सर पर ताज बंधता है और कौन उदास , मायूस होकर वापस लौटता है लेकिन इतना तो पक्का है कि जिसने जनता के हक में काम किया होगा जनता ने उस पर ही विश्वास जताया होगा ।
वही मतगणना को लेकर प्रत्याशियों द्वारा कई जगहों पर मंदिरों में जाकर पूजा अर्चना की जा रही है तो कोई तंत्र मंत्र का सहारा ले रहा है तो कोई जनता पर विश्वास बना कर अपनी जीत का दावा ठोक रहा है तो कोई जीत के बाद जुलूस की तैयारी कर रहा है तो वहीं दूसरी ओर जुलूस निकालने वाले प्रत्याशियों पर प्रशासन भी नजर टेढ़ी करने लगा है प्रशासन का कहना है कि किसी भी प्रत्याशी द्वारा विजय जुलूस नहीं निकाला जाएगा अगर किसी भी प्रत्याशी द्वारा इन नियमों का उल्लंघन किया जाता है तो उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी ‌।