You are currently viewing FATEHPUR- गलाथा ग्राम पंचायत में बने कैनाल नलकूप में पानी न आने से किसानों में भारी आक्रोश

गलाथा ग्राम पंचायत में बने कैनाल नलकूप में पानी न आने से किसानों में भारी आक्रोश

यूपी फाइट टाइम्स
राजेश गौतम

चौडगरा -फतेहपुर जनपद के देवमई विकास खण्ड के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत गलाथा में बने कैनाल नलकूप में पानी न आने के कारण किसानों में भारी आक्रोश दिखाई दिया है वहीं गांव के जब पम्प कैनाल के अध्यक्ष अच्छेलाल यादव सहित तमाम किसानों से जब बात की गई तो उन्होंने मीडिया के सामने अपना दुखड़ा बताया कहा कि लगभग 2 महीने हो रहे हैं अभी नलकूप में पानी नहीं आया है जिससे किसानों की फसलों में भारी नुक़सान है और इस मौसम में धान की रुपाई चल रही है लेकिन पानी के कारण वह भी बंद है किसानों ने कहा कि अगर पानी नहीं आता है तो गांव के किसान भुखमरी के कगार पर पहुंच जाएंगे वहीं जब गांव के अन्य लोगों से बात की गई तो उन्होंने कहा कि लगभग सन् 1968 में उत्तर प्रदेश शासन की योजनाओं के अंतर्गत यह नलकूप बनकर तैयार हुआ था यहां सरकारी कर्मचारी आपरेटर भी नियुक्त किया गया है जब कि पहले जो कर्मचारी विनय कुमार था वह अब रिटायर हो चुके है और वर्तमान समय में एक और विनय कुमार गौतम की नियुक्ति की गई है लेकिन जो रिटायर कर्मचारी हैं वह वर्षों से अपना डेरा अभी भी जमाए हुए हैं लेकिन जब रिटायर कर्मचारी से मौके पर बात की गई तो उन्होंने कहा कि जेई साहब ने वर्तमान कर्मचारी के सहयोग के लिए मुझे रखा गया है वह भी बिना लिखित प्रमाण के रखा गया है लेकिन एक बात गांव के किसानो को नहीं समझ में आई कि जब दो दो कर्मचारियों के होते हुए न तो कैनाल नलकूप में कोई साफ सफाई है घना जंगल मौके पर दिखाई पड़ा और अभी तक वहां कर्मचारियों के लिए न तो आवास और न ही पेयजल की कोई व्यवस्था है अगर कोई भी आदमी प्यासा हो या कर्मचारी तो वह 3 किलोमीटर दूर से पीने का पानी लेकर आता है आखिर जब बने गलाथा गांव कैनाल पर नियुक्ति कर्मचारियों को पानी पीने की व्यवस्था नहीं है और उधर किसानों की फसलों को पानी नहीं मिल रहा है आखिर जिम्मेदार कौन है सिंचाई विभाग के जब अधिकारियों से फोन बात की गई तो उन्होंने जल्द से जल्द किसानों की समस्याओं का समाधान करने की बात कही है