मैंना गांव के दर्जनों घरों में घुसा बाढ़ का पानी, कोई सहायता नहीं

बाढ़ के पानी से सबसे ज्यादा किसानों की परेशानी बढीं- आजाद

सुमलेश कुमार यादव खगड़िया संवाददाता

(सहरसा): सोनबरसा राज प्रखंड क्षेत्र के कई पंचायतों में पिछले एक सप्ताह से बाढ़ का पानी अपना दबदबा बनायें हुए हैं, जिससे खेत में लगें धान का फसल के साथ साथ पशु की चारा भी बाढ़ के पानी में बिल्कुल डुब गया है और पशुपालकों को भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। पशुपालक पशुचारा के लियें गले भर पानी में डूबकर पशुचारा लाते हैं अधिक पानी होने के बजह से पशुओं का चारा गुमसरैन जाता है, जिसको पशु खाना पसंद नहीं करते है। परड़िया पंचायत के मैंना गांव के चारों ओर बाढ़ का पानी लोगों के घरों में प्रवेश कर जानें से पशु के साथ-साथ लोगों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है और अभी तक लोगों को प्रशासन के तरफ से कोई सहायता नहीं दिया गया है। जन अधिकार पार्टी के छात्र जिला उपाध्यक्ष अजाद कुमार ने बाढ़ का निरीक्षण कर बताया कि मैंना गांव के शिबू सादा, सागर सादा, राम सादा, कारी सादा, अरविंद सादा, लोटन सादा, दरोगी सादा, कंचन सादा, प्रमोद सादा, दिनेश सादा, भवेश सादा, केलाश सादा, शिवदानी सादा और वार्ड नम्बर तीन में मो० बुधो, जकीर आलम, को इद्रीश आलम, सीतल मुखिया, बनारसी चौधरी, वासुदेव मुखिया, अरूण मुखिया, बीरेन्द्र मुखिया, सुखो मुखिया, गणेशी मुखिया, वकील राम, कारी राम सहित बहुत के घर में बाढ का पानी प्रवेश कर गया है। उन्होंने बताया कि परड़िया पंचायत के लगभग सभी गावों में बाढ का पानी प्रवेश कर गया है,

जिससे काफी परेशानी हो रही है, सरकार एवं प्रशासन की ओर से अभी तक राहत व सहायता के नाम पर कुछ भी व्यवस्था नहीं किया है, परिया पंचायत के मुखिया मुकुन कुमारी, आजाद यादव ने सरकार व अधिकारियों से मांग करते हैं कि अभिलम्ब राहत देने की व्यवस्था करें और सोनबरसा राज प्रखंड क्षेत्र को आपदा घोषित करें। बाढ़ के कहर में सबसे ज्यादा किसानों की क्षति हुई है, किसानों का पूरा फसल पानी में डूबकर बर्बाद हो चुका है और पशु के लिए चारा नहीं है। वहीं सोनवर्षा सीओ उपेन्द्र कुमार तिवारी ने बताया बाढ़ से प्रभावित परिवार को आपदा के तहत सहायता किया जाएगा। बाढ़ पीड़ितों को जिस चीज का जरुरत होगा हम समय से उपलब्ध करवाने का प्रयास करेंगे। और उन्होंने बताया कि अरसी रोड के नजदीक नहर डुटने का सुचना मिला है हमने अपने अधीनस्थ कर्मी को उक्त स्थल पर भेजकर जांच करवा रहे हैं जरुरत के मुताबिक कार्य किया जाएगा।