You are currently viewing घट रहा है राप्ती नदी का जलस्तर, खतरे के निशान से 09 सेंटीमीटर ऊपर है जलस्तर

घट रहा है राप्ती नदी का जलस्तर, खतरे के निशान से 09 सेंटीमीटर ऊपर है जलस्तर

संवाददाता राधेश्याम गुप्ता

बाढ़ प्रभावित ग्रामों में नियुक्त किए गए नोडल अधिकारी

दिनांक 2 सितंबर 2021

आज राप्ती नदी का जलस्तर सायं 5:00 बजे 104.71 मीटर रिकॉर्ड किया गया जो कि खतरे के निशान 104.62 से 09 सेंटीमीटर ज्यादा है। जलस्तर घटने का पूर्वानुमान है।

जनपद में सभी 31 बाढ़ चौकियां सक्रिय हैं,सभी बाढ़ चौकियों पर तैनात कर्मचारियों द्वारा संबंधित ग्रामों में बाढ़ की स्थिति पर नजर रखते हुए मुस्तैदी के साथ बाढ़ राहत कार्य किया जा रहा है।

जिले में संचालित नावों की संख्या 90 है। तहसील तुलसीपुर में 36 ग्राम एवं डिप पर, तहसील बलरामपुर में 29 ग्राम एवं डिप पर, तहसील उतरौला में 24 ग्राम एवं पर नाव संचालित है।

स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा बाढ़ प्रभावित ग्रामों में घर घर जाकर गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों का चिन्हांकन किया जा रहा है, लोगों का चेकअप करते हुए आवश्यक जीवन रक्षक दवाओं की किट उपलब्ध कराई जा रही है।स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा आज बाढ़ प्रभावित 36 ग्राम का भ्रमण कर 419 से लोगों का उपचार किया गया तथा लोगों को ओआरएस पैकेट, क्लोरीन की गोली, जिंक की गोली का किट वितरित किया गया।

पशुपालन विभाग की टीम द्वारा विभिन्न बाढ़ प्रभावित ग्रामों में पशुओं का टीकाकरण किया गया।

बाढ़ प्रभावित ग्रामों में 1469 परिवारों को राहत सामग्री किट का वितरण किया गया है। विभिन्न ग्रामों में 1600 फूड पैकेट का वितरण आज किया गया। इसके अलावा संभ्रांत व्यक्तियों एवं स्वयंसेवी संस्था की मदद से बाढ़ प्रभावित ग्रामों में फूड पैकेट्स का वितरण किया जा रहा है।

बाढ़ प्रभावित ग्रामों में ग्राम पंचायत अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया गया है नोडल अधिकारियों द्वारा बाढ़ प्रभावित ग्रामों में प्रकाश की व्यवस्था व अन्य राहत कार्य सुनिश्चित कराया जाएगा।

प्रशासन द्वारा पूरी मुस्तैदी के साथ बाढ़ प्रभावितों को हर संभव सहायता व राहत उपलब्ध कराई जा रही है।