सरकार बनाये कानून सख़्त कि अब न बहें ख़ुदा के नाम पर ख़ून

जयगुरुदेव
प्रेस नोट
13 अगस्त 2020
सरकार बनाये कानून सख़्त कि अब न बहें ख़ुदा के नाम पर ख़ून और राम के नाम पर रक्त
विश्वविख्यात परम् सन्त और विश्व शांति का संदेश देने वाले बाबा उमाकान्त जी महाराज ने 12 अगस्त, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर शाम को ऑनलाइन संदेश देते हुए फरमाया कि हमने कुछ दिनों पहले ये प्रार्थना की थी कि श्री राम मंदिर और मस्ज़िद के नाम पर जो वाक-युद्ध देश में चल रहा है उसे रोका जाए। अगर वाक युद्ध करोगे तो ख़ुदा के नाम पर ख़ून और राम के नाम पर रक्त बह जाएगा, लोगों की जान चली जायेगी और ये मानव मन्दिर, जिस्मानी मस्जिद ढह जाएगी।इसलिए हमारी विनती और गुज़ारिश है कि ऐसी कोई बात मत बोलो की तिफरका पैदा हो। प्रतिशोध की भावना पैदा हो।
जनता की करने रक्षा, सरकार नियंत्रण में करें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता
बाबा उमाकान्त जी महाराज ने देश की सरकार से अपील किया कि आज सोशल मीडिया जैसे व्हाट्सप, फेसबुक, ट्विटर पर जो मन्दिर-मस्ज़िद के नाम पर वाक युद्ध चल रहा है जिससे देश मे ऐसा माहौल बन रहा है। उसे रोकने के लिए सरकार सख़्त कानून बनाये और ज़रूरत पड़ने पर देश और जनता की सुरक्षा के लिए अगर सोशल मीडिया के अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में कुछ कमी भी करनी पड़े तो सरकार ज़रूरी कदम उठाए। क्योकि हमने बताया था कि ये अगस्त, सितम्बर और अक्टूबर का महीना राजा-प्रजा दोनो के लिए ठीक नही है इसलिए सतर्क रहने की आवश्यकता हैं।
ओली साहब नेपाल में बलि प्रथा बन्द करो फिर राम मंदिर का निर्माण करो
बाबा उमाकान्त जी महाराज ने अयोध्या के साथ-साथ नेपाल में भी राम मंदिर बनाने की घोषणा करने वाले प्रधानमंत्री ओली जी से भी आह्वान किया कि आप सबसे पहले नेपाल में सालों से देवी-देवताओं के सामने मुर्गी, बकरी, भैंसा आदि काट कर बलि चढ़ाने की जो परम्परा है उसे खत्म कीजिये और जीवो पर दया कीजिये। क्योकि जीव हत्या कर के, मांस खाकर, मूर्ति के सामने बैठकर पूजा करने से फल नही मिलता बल्कि सज़ा मिलती है। इसलिए पहले नेपाल में पशु बलि बन्द हो फिर मन्दिर निर्माण हो।
इतना ही नही महाराज जी ने शराब के लिए भी कहा कि शराब जिसके लिए नेपाल में कहावत है कि “सूर्य अस्त नेपाल मस्त” इसे खत्म करने के लिए आप सम्पूर्ण नेपाल में शराब बन्द करा दे, ताकि इस मानव मन्दिर को कोई नुकसान न हो, बुद्धि भ्रष्ट और ख़राब न हो ।
जनकपुरी में बनाओ राम मंदिर
पशु बलि और शराब बंदी के साथ-साथ नेपाल में मन्दिर निर्माण की घोषणा पर भी बाबा उमाकान्त महाराज ने नेपाल के पी.एम. ओली साहब से प्रार्थना करी है कि जहाँ राजा जनक जी का मंदिर है, जो जनकपुरी के नाम से प्रसिद्ध है वहीं पर श्री राम मंदिर का निर्माण करवाये ताकि हज़ारों सालों से लोगों के दिल मे बसे सियाराम के दर्शन मिल सके।

पाकिस्तान के पीएम, आवाम को बनाये रहम दिल वरना कयामत टालने का वक्त निकलता जा रहा है
नेपाल के साथ-साथ बाबा उमाकान्त जी महाराज ने पाकिस्तान के वज़ीर-ए-आज़म इमरान खान से भी गुज़ारिश की है कि इस समय वो पावर में है इसलिए चाहे तो लोगों का दिल दिमाग बदलकर उनके अंदर प्यार-मुहब्बत जगाए, उन्हें इबादती, रहम दिल, रहमान बनाये ।
महाराज जी ने ये भी बताया कि उनको ये समझने की ज़रूरत है कि पीर, पैग़म्बर और औलिया, मज़हबी किताबों में जो लिख कर चले गए है जो भविष्यवाणियां करके चले गए है उन बातों को सबको बताने और याद करवाने की ज़रूरत है। अगर आप लोगों को नही बदलोगे, रहम दिल नही बनाओगे, लोगों में मुहब्बत का जज़्बा पैदा नही करोगे तो कयामत को टाल नही सकते । जब दिल में परिवर्तन हो जाता है समझदारी, रहमदिली आ जाती है तो जो आने वाला संकट होता है तो टल जाता है।
इंसानियत आएगी तो ख़ुदा परस्ती आ जायेगी
जन्माष्टमी के अवसर पर बाबा उमाकान्त जी महाराज ने सभी को शुभकामनायें देते हुए पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका सभी की सरकार और जनता से आह्वान किया कि आप सभी लोग अपने-अपने तौर तरीके से पूजा-इबादत में लग जाये,खान-पान को सुधारें, चाल-चलन, विचार-भावनाएं सही कर लें। जिससे सभी को सुकून और शांति मिल जाये। क्योकि इंसानियत आ जायेगी तो ख़ुदा परस्ती आ जायेगी। इसलिए सबसे पहले इंसानियत लाये।
यही प्रार्थना और अर्ज़ी है हमारी, आगे मर्ज़ी है आपकी।

राघवेन्द्र सिंह जादौन (रघु)
मीडिया प्रभारी
जय गुरु देव बाबा उमाकान्त जी महाराज
आश्रम
पिंगलेश्वर, स्टेशन के सामने, मक्सी रोड, उज्जैन (म. प्र.)
7974954020, 8707786501