हरदोई:कर- करेत्तर व राजस्व वसूली, कृषक दुर्घटना बीमा तथा अभियोजन कार्यो को लेकर हुई समीक्षा बैठक

पराली जलाने पर नोटिस के साथ निर्धारित जुर्माना – जिलाधिकारी

गोविन्द सिंह ब्यूरो
हरदोई। कलेक्ट्रेट सभागार में कर- करेत्तर व राजस्व वसूली, कृषक दुर्घटना बीमा तथा अभियोजन कार्यो की समीक्षा बैठक जिलाधिकारी अविनाश कुमार की अध्यक्षता में आहूत की गयी। बैठक में परिवहन, नगर निकायो, विद्युत तथा मण्डी समितियों की खराब राजस्व वसूली पर संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि राजस्व वसूली में किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी, इसलिए अपने क्षेत्रीय विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों के माध्यम से अधिक से अधिक राजस्व वसूली करायें।

समीक्षा में जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारियों से कहा कि तहसील स्तर की मासिक राजस्व वसूली शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप करायें और इसके लिए कानूनगो एवं लेखपालों की जिम्मेदारी तय करें। उन्होने समस्त राजस्व से संबंधित विभाग के अधिकारियों से कहा कि अपने विभागीय लक्ष्य के अनुसार मासिक एवं वार्षिक लक्ष्य की राजस्व वसूली कराना सुनिश्चित करें।

कृषक बीमा दुर्घटना बीमा की समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देश दिये कि कृषक दुर्घटना बीमा की सभी पत्रावलियों को स्वयं पूरी तरह अवलोकन करने एवं स्थलीय जांच से संतुष्ट होने के उपरान्त समय पर उपलब्ध कराये ताकि पीड़ित कृषक के परिवार को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जा सके। पराली जलाने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारी, तहसीलदार एवं सीओ सिटी को निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों में लेखपाल एवं बीट सिपाही की संयुक्त टीम बनाकर अपने ग्राम पंचायत स्तर पर कड़ी नजर रखे तथा किसानों को बताये के अपने खेत में पराली किसी में दशा में न जलायें और पराली जलाने पर नोटिस के साथ निर्धारित जुर्माना वसूला जायेगा।

अभियोजन कार्यो की समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने शासकीय अधिवक्ताओं से कहा दंबग व अपराधी प्रवृत्ति के लोगों के उत्पीड़न से पीड़ित गरीब, असहाय व्यक्तियों के गम्भीर मुकदमों में पूरी तत्परता दिखाते हुए अपराधियों को कड़ी सजा दिलाये। बैठक में उन्होने उप जिलाधिकारियों व तहसीलदारों से कहा अपने-अपने न्यायलय में लम्बित वादो के निस्तारण में तेजी लाये। समीक्षा बैठक में अपर जिलाधिकारी संजय कुमार, सभी उप जिलाधिकारी व तहसीलदार, जिला आबकारी अधिकारी, डीडी कृषि सहित अन्य संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।