अवैध बालू खनन की गाड़ियां हेतिमपुर पुलिस चौकी से गुजरती हुई चौकी प्रशासन मौन


देवरिया से ब्यूरो चीफ अनुराग रंजन की रिपोर्ट

अवैध खनन को लेकर सरकार भले ही बड़े-बड़े वादे कर रही हो लेकिन जमीनी हकीकत तो कुछ और ही है। अवैध बालू खनन की गाड़ियां रोजाना हेतिमपुर पुलिस चौकी से होकर गुजर रही हैं बालू माफिया तथा पुलिस की सांठगांठ होने से पुलिस द्वारा अवैध बालू खनन की सैकड़ों गाड़ियां रोजाना गुजर रही हैं पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अवैध बालू खनन को रोकने के बजाय मोटी रकम लेके बालू माफियाओं के कारोबार को बढ़ाने में लगी है पहले रात के अंधेरे में बालू खनन माफिया अपने कारोबार में लगे रहते थे लेकिन पुलिस प्रशासन की मिलीभगत से दिन हो या रात हर समय पुलिस चौकी के सामने से बालू खनन की गाड़ियां ले जाई जा रही हैं इसके लिए बालू खनन माफिया मोटी रकम अदा करते हैं बड़े अधिकारियों की आने की सूचना मिलने पर पुलिस चौकी द्वारा पहले ही बालू माफियाओं को बता दिया जाता है कई बार स्थानीय लोगों ने बालू खनन की शिकायत चौकी प्रशासन से किया है लेकिन पुलिस प्रशासन मौन साध लेती है जो कई सवाल खड़े करती है पुलिस प्रशासन की लापरवाही के कारण पर्यावरण को नुकसान के साथ-साथ नदी का कटान हो रही है जिससे नदी के किनारे के गांव का खतरा बढ़ गया है तथा नदी का जलस्तर तेजी से घट रहा है इस संबंध में जब हेतिमपुर चौकी इंचार्ज से बात किया गया तो चौकी इंचार्ज ने बताया कि यहां से तो कोई गाड़ी नहीं जाती है