संगीत मयी श्रीमद्भागवत में कथावाचक ने कथा के माध्यम से श्रोताओं को भक्ति विभोर कर दिया

संगीत मयी श्रीमद्भागवत में कथावाचक ने कथा के माध्यम से श्रोताओं को भक्ति विभोर कर दिया ।

संवाददाता राधेशयाम गुप्ता

सादुल्लानगर / बलरामपुर में कथावाचक श्रद्धेय पण्डित हरि शंकरा नंद शास्त्री द्वारा संगीत मयी श्रीमद्भागवत का चल रहेआयोजन के चौथे दिन कथावाचक द्वारा भक्त प्रहलाद की भगवान के प्रति भक्ति का अपने संगीतमयी स्वर के साथ सुनाया गया उसके साथ ही देवता द्वारा समुन्द्र मंथन से अमृत पान का रोचक कथा कथावाचक द्वारा सुनकर पंडाल में बैठे स्रोता भक्ति बिभोर होगये संगीत को सजाने वाले संगीतकार सत्यम मनचला व विनय पाण्डेय ने अपने संगीत के माध्यम से संगीतमयी कथा को अलंकृत किया ।इस श्रीमद भागवत के मुख्य यजमान रहे श्री नारायण मिश्र व लबली मिश्र ।इस अवसर पर श्री हरिओम महराज गुजरात,दद्दन मिश्रा , रमेश तिवारी ,निरुद्ध मिश्रा ,दीपू जयसवाला , रामबहोर वर्मा ,राधेश्याम गुप्ता ,रजनीश वर्मा ,अनिल तिवारी सहित अधिकांश सैकड़ो स्रोता मौजूद रहे ।