You are currently viewing जवाई पुर्नरभरण की मांग उठी जोरो पर

जवाई पुर्नरभरण की मांग उठी जोरो पर

जवाई बांध
ललित दवे

जिले के सबसे बड़े पेयजल स्त्रोत जवाई बांध के पुनर्भरण को लेकर पिछले कई सालों से कवायद चल रही है सामाजिक कार्यकर्ता युवा शक्ति संघठन के संस्थापक श्रीपाल सिंह देवड़ा का कहना है कि पाली जालौर के पेयजल स्त्रोत जवाई बांध के पुनर्भरण को लेकर पिछली सरकार ने बजट की घोषणा की जो केवल कागजो में ही पूरी हो गयी, वर्तमान सरकार के समक्ष भी कही बार पुर्नरभरण के मुद्दे उठाये लेकिन पेयजल उपलब्ध करवाने का सपना अधूरा ही रह गया,सरकार व जन प्रतिनिधि पुर्नरभरण के नाम पर केवल वोटबैंक की राजनीति कर रही है,जवाई पुर्नरभरन के लिए सरकार के वादे खोखले साबित हो रहे है जो पुर्नरभरण का मुद्दा कहि वर्षो से लटका हुआ है आज की गावो की स्थिति है 15 दिन से पानी आ रहा है जवाई पुर्नरभरण से पीने को पानी उपलब्ध होंगा साथ ही किसानों को भी फायदा होंगा जो वर्तमान समय मे लगभग पैतीस से चालीस हजार किसान जवाई कमांड क्षेत्र से जुड़े हुए है वही अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े काश्तकारों व श्रमिकों की संख्या लाखों में हैं,पाली जालोर व सिरोही जिले की चाही भूमि को कमाण्ड में शामिल करने की प्रक्रिया चल रही है कई इलाकों के किसान अपनी भूमि में जवाई से सिंचाई के लिए पानी देने की मांग कर रहे हैं जवाई का स्थायी पुनर्भरण होने से इन मांगों को पूरा किया जा सकता है।
जवाई बांध सुमेरपुर कृषि उपज मण्डी समिति का आधार रहा है। क्षेत्र के अधिकांश कृषि गतिविधियां जवाई बांध पर निर्भर हैं। देवड़ा का कहना है कि ऐसी स्थिति में फ़िल्म सिटी से पहले से स्थानीय प्रतिनिधियो को पहले जवाई पुनर्भरण पर ध्यान देना होंगा और जो जनता से वादे किए थे वो पूरे करे पिछले काफी दिन से सोशियल मीडिया पर देवड़ा ने टैग चलाया है पहले जवाई पुर्नरभरण फिर फ़िल्म सिटी जिनकी चर्चा काफी जोरो पर है और किसानों सहित युवाओं का समर्थन मिल रहा है आने वाले समय मे जल्दी विशाल वाहन रैली व धरना प्रदर्शन किया जायेगा जिनकी तयारी में टीम के सदस्य लगे हुए है