You are currently viewing मैं सबको अपना मानता हूं, इसी मानव मंदिर में देवी-देवताओं के दर्शन और नर्क-चौरासी से छुटकारा दिलाना चाहता हूँ

जय गुरु देव

29.11.2021
प्रेस नोट
जालंधर, पंजाब

मैं सबको अपना मानता हूं, इसी मानव मंदिर में देवी-देवताओं के दर्शन और नर्क-चौरासी से छुटकारा दिलाना चाहता हूँ

ये कड़वी दवा पी लोगे तो आप, आपके बच्चे, पंजाब, देश, दुनिया सब के लिए अच्छा हो जाएगा

सभी जीवो के अंदर उसी मालिक की अंश रूह-जीवात्मा है सो जो मालिक से प्रेम करते हैं वो उनके जीवों को, मुर्गा, बकरा, भैसा को काटते नहीं

आजकल होने वाली बीमारियों-तकलीफों के कारणों और उनकी दवाई-समाधान को सरल शब्दों में समय रहते बता कर मानव जाति के स्वस्थ, खुशनुमा अस्तित्व को बरकरार रख आध्यात्मिक प्रगति की नींव रखने वाले इस समय के पूरे समरथ सतगुरु उज्जैन वाले बाबा उमाकान्त जी महाराज ने 24 नवंबर 2021 को जालंधर, पंजाब में दिए व यूट्यूब चैनल जयगुरुदेवयूकेएम पर प्रसारित संदेश में बताया कि जीवात्मा ही प्रमुख चीज है। जीवात्मा सबके अंदर एक जैसी है। जो जीवात्माओं को देखता है, उनसे प्रेम करता है वह यह नहीं देखता है कि काले हैं या गोरे। वो सबसे प्रेम करते हैं। गुरु महाराज सबसे प्रेम करते रहते थे। और मैं तो गुरु महाराज के चरणों की धूल हूं। मैं कैसे उनके पद चिन्हों को छोडूंगा। मैं भी सबके अंदर उसी प्रभु को देख रहा हूँ। गोस्वामी जी ने कहा-
सिया राम मैं सब जग जानी।
करहु प्रणाम जोरी जुग पानि।।

आप तो सब के सब प्रणाम योग्य हो। जब यह ज्ञान हो जाता है कि सबके अंदर उसी मालिक की जीवात्मा है तो जो मालिक से प्रेम करते हैं, वह किसी मुर्गा, बकरा, भैंसा को काटते नहीं हैं, किसी आदमी को मारते-काटते नहीं हैं, किसी से भेदभाव नहीं रखते हैं, सबसे प्रेम करते हैं। मैं प्रेम का ही तो पाठ पढ़ा हूं, प्रेम का ही पाठ पढ़ाता हूं, आप सबको एक तरह से देखता हूँ।

मांसाहार खून बेमेल कर असाध्य बीमारियां ला देता है

आप जो अंडा-मछली-मांस-शराब खाते-पीते हो, इससे बीमारियां बढ़ती हैं, शरीर के ऊपर गलत असर पड़ता है। मांस खाने वाले जो बॉडी बनाते हैं अक्सर हार्ट अटैक की समस्या होता है। खून की नसें ब्लॉक हो जाती हैं। खून जब बेमेल हो जाता है तो बीमारियां ज्यादा होती हैं। हार्ट अटैक, कैंसर आदि जो असाध्य रोग हैं जल्दी खत्म नहीं होते। हो गया तो उसी से जान चली जाती हैं। ये सब ज्यादातर खून के बेमेल होने से ही होता है।

ये कड़वी दवा पी लोगे तो आप, आपके बच्चे, पंजाब, देश, दुनिया सब के लिए अच्छा हो जाएगा

मोटी बात समझो, मांस, मछली, अंडा मत खाना, शराब मत पीना, दूसरी औरत-पुरुष के साथ बुरा कर्म मत करना। मुझे मालूम है कि जो आप लोग खाते-पीते हो उनको दवा कड़वी लग रही है लेकिन नहीं पियोगे तो बुखार जड़ तक जाएगा, जानलेवा हो जाएगा। जैसे कड़वी दवा पहले पिलाते थे। नीम की छाल, पत्ती बुखार के मरीज को उबालकर पिला देते थे तो जड़ से बुखार चला जाता था। अंग्रेजी दवाएं तुरंत आराम तो देती हैं लेकिन जड़ से मर्ज नही जाता है। ऐसे ही जब संकल्प आप लोगों का बन जाएगा तो मर्ज चला जाएगा नहीं तो यह मर्ज बढ़कर जानलेवा हो जाएगा। आप मेरी बातों को अमल में ले आओगे, पकड़ लोगे तो आपके, आपके बच्चों, पंजाब, देश, दुनिया सब के लिए अच्छा हो जाएगा।