जिला कारागार परिसर में गंदगियों की भरमार

जिला कारागार परिसर में गंदगियों की भरमार

खंजर ईंट से बनी उखड़ी सड़क, बजबजाती नाली, निष्प्रयोज्य हैंडपंप, सड़कों पर एक एक फिट गहरे गड्ढे व मिट्टी से निर्माण कराया जा रहा बाउंड्री वॉल यह स्थिति कहीं और की नहीं बल्कि गोंडा शहर में स्थित कारागार के आंगन की है। 

जिला कारागार में प्रवेश करते ही आपको एक एक फिट गहरे गड्ढे और सड़क पर खंजर ईंट बिछा मिलेगा। यही आलम कारागार के अंदर बनी कालोनियों की भी है जहां कारागार के आलाधिकारी रहते हैं। अधिकारियों व कर्मचारियों के आवास के बगल से निकलने वाली पानी की नाली बजबजा रही है। कड़ाके की धूप में नालियों से निकलती बदबू से वहां एक पल भी रुकना दुश्वार हो जाता है लेकिन जिम्मेदार टस से मस नहीं हो रहे हैं। 

कारागार परिसर में लगा दो इंडिया मार्का नल खराब पड़ा है। दोपहर में इन नलों से पानी निकलना मुश्किल हो जाता है कडी मशक्कत के बाद पानी निकलेगा तो वह थोड़ा थोड़ा ही।

कारागार के सामने खेती योग्य भूमि की बाउंड्री वाल की मिट्टी से चुनाई करावा दी गई है जो पूर्णतः मानक विहीन तो है ही वहीं बरसात में ही ढ़ह जाने की संभावना प्रदर्शित हो रही है। 

अपराधियों को घेरने वाली कारागार खुद ही जटिल समस्याओं से घिरी हुई है। लेकिन कोई शासन प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है।

रिपोर्टर राजेश शुक्ला की रिपोर्ट

Leave a Reply