पत्रकारिता को आलोचना की दृष्टि से नहीं देखना चाहिए- विधायक नीरज बोरा

पत्रकारिता को आलोचना की दृष्टि से नहीं देखना चाहिए- विधायक नीरज बोरासामाजिक समस्याओं के निवारण का आधार बनें पत्रकार- एसीपी राघवेंद्र कुमार मिश्राराज्य-मुख्यालय। पत्रकारिता को आलोचना की दृष्टि से नहीं देखना चाहिए। यह बात ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन मंडल द्वारा राजधानी में आयोजित कार्यसमिति की बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में विधायक नीरज बोरा ने कही। इससे पूर्व लखनऊ इकाई के ग्रापए जिलाध्यक्ष अमित पांडेय ने माल्यर्पण कर उनका स्वागत-वंदन किया। विधायक नीरज बोरा ने कहा कि पत्रकार समाज का महत्वपूर्ण अंग है। अपनी कलम की सकारात्मक लेखनी से समाज को लाभ देने का काम पत्रकार को करना चाहिए। कार्यक्रम में पूर्व सहायक निदेशक, सूचना विभाग दिनेश गर्ग, सूचना विभाग अधिकारी महेंद्र कुमार, एसीपी राघवेंद्र कुमार मिश्रा व हजरतगंज इंस्पेक्टर श्याम बाबू शुक्ला की उपस्थिति रही। पत्रकारों को संबोधित करते हुए एसीपी राघवेंद्र कुमार मिश्रा ने कहा कि सामाजिक समस्याओं को बाहर लाकर उनके निवारण हेतु पत्रकार को उसका आधार बन जाना चाहिए। समाजहित रूपी यज्ञ में सकारात्मक लेखनी रूपी आहुतियां हर पत्रकार को डालनी चाहिए। प्रान्तीय महासचिव डॉ. कृष्ण गोपाल गुप्ता व मंडलाध्यक्ष अतुल कपूर का माल्यार्पण कर उनका स्वागत किया गया।इस बीच ग्रापए मंडलाध्यक्ष अतुल कपूर ने विधायक नीरज बोरा को पत्रकारों की ओर से शासन को संबोधित मांगपत्र भी सौंपा। कार्यक्रम में आये अतिथियों का स्वागत कर उन्हें स्मृति चिन्ह भी भेंट किये गए। ग्रापए लखनऊ मंडल के महासचिव संजय सिंह, कोषाध्यक्ष सौरभ सिंह, संप्रेक्षक नवनीत कुमार रामजी आदि ने भी पत्रकारों के बीच ‘वर्तमान परिवेश में पत्रकारिता का स्वरूप’ विषय पर बात की। कार्यक्रम के आयोजक लखनऊ इकाई के जिलाध्यक्ष अमित पांडेय को सभी पत्रकारों ने फूल-मालाओं से लाद दिया।अंत में प्रांतीय महासचिव कृष्ण गोपाल गुप्ता ने कार्यक्रम की समाप्ति की घोषणा की। जिला संगठन मंत्री सौरभ सैनी, जिला महामंत्री प्रमोद श्रीवास्तव, आर.के.मिश्रा, रामकिशोर मिश्रा, उपमंत्री धनंजय अवस्थी उन्नाव, हरदोई, रायबरेली आदि जनपदों से दर्जनों पत्रकार मौजूद रहे।