पत्रकार स्व0 विक्रम जोशी हत्यारों को जल्द दी जाये फांसी

पीलीभीत से अंकित रावत की रिपोर्ट

डी.जी.पी. उत्तर प्रदेश को पुलिस अधीक्षक के माध्यम से भेजा ज्ञापन । यूनियन की तरफ से की गयी फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने की मांग । गाजियाबाद में हुयी पत्रकार स्व0 विक्रम जोशी की निर्मम हत्या के दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग को लेकर व इस जघन्य हत्याकाण्ड के विरोध में आज पीलीभीत में ऑल इण्डियन प्रेस जर्नलिस्ट एसोसियेशन (ऐप्जा) के जिलाध्यक्ष विकास दीक्षित व वरिष्ठ पत्रकार साकेत सक्सेना के नेतृत्व में अन्य साथियों के साथ पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश को सम्बोधित मांगपत्र/ज्ञापन पुलिस अधीक्षक पीलीभीत जय प्रकाश के माध्यम से दिया गया। पत्रकारों द्वारा दिये गये इस ज्ञापन में मांग की गई है कि मृतक पत्रकार स्व0 विक्रम जोशी की हत्या का केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाये एवं मृतक पत्रकार स्व0 विक्रम जोशी के हत्यारों को फांसी की सजा दी जाये। मुख्यमन्त्री उत्तर प्रदेश द्वारा मृतक के परिजनों को मुआवजे के तौर पर घोषित धनराशि को 10 लाख रुपये से बढ़ाकर न्यूनतम 50 लाख किया जाये जिससे पत्रकार के परिवार का भरण पोषण हो सके। पत्रकार की पीट पीटकर निर्मम हत्या के दोषियों को फांसी की सजा देकर उदाहरण पेश करना चाहिये जिससे कोई भी अपराधी किसी पत्रकार के ऊपर हमला करने की हिमाकत न कर सके। पत्रकारों द्वारा स्व0 विक्रम जोशी की शिकायत पर संज्ञान न लेते हुये कर्तव्य के प्रति लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के विरुद्ध भी कठोर कार्यवाही करने की मांग की गयी है। ज्ञापन देने वालों में वरिष्ठ पत्रकार साकेत सक्सेना, जिलाध्यक्ष ऐप्जा विकास दीक्षित, मुकेश कुमार, अदनान खाँ, बिलाल मियां व शैलेन्द्र प्रताप सिंह शामिल रहे।