कौशाम्बी:प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन की धज्जियां उड़ाती बदहाल सडक और कीचड़ भरी नालियां

कौशाम्बीः इसी माह के 2 अक्टूबर को भारत सरकार द्वारा जारी अभियान, स्वच्छ भारत मिशन को छह वर्ष हो गए। जिसका उद्देश्य गलियों, सडकों तथा अधोसंरचना को साफ सुथरा करना और कूडा साफ करना था। लेकिन अभियान के वर्षों बीत जाने पर भी जमीनी स्तर पर इसके आंकडे नकारात्मक ही दृष्टिगत होते हैं। मौजूदा समय मे ऐसी अव्यवस्था से जूझ रहा गाँव है कौशाम्बी जिला स्थित सिराथू ब्लाक का कुन्ड्रावी ग्राम सभा जहां की सडको मे वाहन से चलना तो दूर की बात पैदल चलना भी दूभर है। गाँव की नालियां टूटी हुई हैं,सडके तालाब मे तब्दील हैं आवागमन का मार्ग पूरी तरह से बाधित है जिससे ग्राम वासियों को अत्यन्त कठिनाई का सामना करना पड रहा है और साथ ही साथ डेंगू, मलेरिया जैसी घातक बीमारियों से आये दिन कोई न कोई ग्रसित रहते है । लेकिन ग्राम प्रधान और जिम्मेदार आला अधिकारियों का ध्यान इस ओर नहीं जा रहा है। ऐसी समस्याओं का निस्तारण पंचायत स्तर पर बहुत आसानी से हो जाता है। सरकार द्वारा ग्राम प्रधानो के लिए पर्याप्त बजट वितरण के बावजूद प्रधानी के कार्यकाल के अन्तिम पडाव आने पर भी समस्या की स्थिति जस की तस बनी है।

संवाददाता-दीपक जायसवाल