कौशाम्बी:ग्राम पंचायत ऊनों में बाहर से आए हुए श्रमिक कामगारों की जांच के बाद होम क्वॉरेंटाइन में रखा जा रहा है। साथ ही उन्हें क्वॉरेंटाइन नियमों की जानकारी भी दी जा रही है

कौशाम्बी:ग्राम पंचायत ऊनों में बाहर से आए हुए श्रमिक कामगारों की जांच के बाद होम क्वॉरेंटाइन में रखा जा रहा है। साथ ही उन्हें क्वॉरेंटाइन नियमों की जानकारी भी दी जा रही है

कौशाम्बी देश दुनिया का अनुभव कोरोनावायरस के खौफ से आसानी से मुक्ति मिलने वाली नहीं इसके लिए मानसिक रूप से तैयार रहें कि हमें अरसे तक उसके साए में जीना पड़ सकता है,कोरोनावायरस से उपजी कोविड-19 महामारी एक बड़ी हद तक तो नियंत्रित हो सकती है लेकिन अभी इसके आसार नहीं कि इससे पूरी तरह से छुटकारा मिल जाएगा। कोरोनावायरस को रोकने के लिए फिलहाल एक ही उपाय इसको फैलने से रोका जाए।
ग्राम पंचायत ऊनों में बाहर से आए हुए श्रमिक कामगारों की जांच के बाद होम क्वॉरेंटाइन में रखा जा रहा है साथ ही उन्हें क्वॉरेंटाइन नियमों की जानकारी भी दी जा रही है। गौरतलब है कि कोविड-19 के संक्रमण के चलते पूरे देश में लॉकडाउन है, यही कारण है कि देश के विभिन्न भागों से कामगार श्रमिक घर वापसी कर रहे हैं, इन कामगार श्रमिकों की देखभाल के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर निगरानी समिति का गठन किया गया है। ग्राम प्रधान की अध्यक्षता में आज निगरानी समिति की बैठक आहूत की गई।
बैठक में ग्राम प्रधान श्रीमती संगीता मिश्रा, स्वच्छाग्रही अनिल पांडेय,पंचायत सचिव दिनेश सिंह, लेखपाल मूल नारायण मौर्य, प्राथमिक विद्यालय ऊनों प्रधानाध्यापक महेंद्र प्रताप सिंह, कोटेदार श्यामा रानी, बीडीसी शारदा प्रसाद, एएनएम सुमन सिंह, आंगनबाड़ी पुष्पा देवी, पुष्पा पांडे, आशा उषा देवी, अलका यादव एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट श्री संतलाल मिश्र जी उपस्थित रहे।
कौशाम्बी से
सुघर सिंह राजपूत की रिपोर्ट
चक नारा सिराथू कौशाम्बी

Leave a Reply