कौशाम्बी:रात के सन्नाटे में मल्हीपुर घाट में गरज रही पोकलैंड मशीन अवैध बालू खनन की शिकायत के बाद भी अनजान बन रहे विभागीय अफसर

कौशाम्बी:सराय अकिल इलाके मल्हीपुर घाट में शाम ढलते ही अवैध बालू का खनन शुरू हो जाता है विभागीय अफसरों की अनदेखी से सन्नाटा होते ही पोकलैंड मशीन भी गरजने लगती है अवैध खनन की शिकायत को विभागीय अफसर नजर अंदाज कर रहे हैं, इससे इससे सरकारी खजाने को लाखों रुपए राजस्व की चपत लग रही है साथ ही इलाके के अदावत भी सुलगने लगी है ,हालांकि डीएम ने अवैध बालू खनन रोकने का सख्त निर्देश दिया हुआ।
यमुना के कच्चे सोने के रूप में मशहूर हो चुके कौशांबी की मोरम अवैध कमाई जरिया बन चुकी है ,महीनों में करोड़पति बनने का सपना देखने वाले रेत माफिया यहां स्थाई ठिकाना बना चुके हैं गैर प्रांतों से आए बालू माफिया अंधी कमाई के चक्कर जाएज नजायज सारे काम कर रही है। इसकी बानगी यमुना के घाटों में देखी जा सकती है , मल्टीपुर घाट में पिछले कई दिनों से एक रेत माफिया सक्रिय है। आरोप है कि दिन भर तो ऊट, गधा से स्थानीय लोगों से खनन कराता है। लेकिन शाम ढलते ही पोकलैंड लगाकर बालू की निकासी शुरू हो जाती है, फिर सुबह दिन का उजाला फैलने तक अवैध खनन चलता रहता है। इलाकाई लोगों का कहना अवैध बालू खनन की शिकायत लगातार विभागीय अफसरों से हो रही हैं, लेकिन शिकायत के बावजूद अवैध खनन से अनजान बने हुए हैं, इससे रात के अंधेरे से सुबह उजाला निकलने तक डंफर , ट्रक व ट्रैकटर मे बालू लादकर दौड़ आते रहते हैं ,लेकिन विभागीय अफसर जानकर भी अंजान बने रहे हैं। विभागीय अफसरों में इसका अंदाजा लगाया जा।
कौशाम्बी से
सुघर सिंह राजपूत की रिपोर्ट
चक नारा सिराथू कौशाम्बी