जयगुरुदेव नाम की ध्वनि बोलते रहो, कोरोना का भय निकल जायेगा -बाबा उमाकान्त जी महाराज

जयगुरुदेव

उज्जैन ,मध्य प्रदेश

जयगुरुदेव नाम की ध्वनि बोलते रहो, कोरोना का भय निकल जायेगा -बाबा उमाकान्त जी महाराज

जयगुरुदेव नाम से जनकल्याण और जनरक्षा का प्रचार करने वाले उज्जैन के पूज्य संत बाबा उमाकान्त जी महाराज ने चैत्र पूर्णिमा 27 अप्रैल 2021 को अपने उज्जैन आश्रम से यूट्यूब चैनल जयगुरुदेवयूकेएम के माध्यम से ऑनलाइन सतसंग देते हुए बताया कि ये जो जयगुरुदेव नाम प्रभु का जगाया हुआ नाम है, इसे बराबर बोलते रहो। जो तकलीफ़, बीमारी में है वो तो बोले ही, और जो नहीं है वो भी बोलते रहे। जिससे ये जो भय है, डर है कोरोना का, की भयंकर बीमारी है वो भय भी निकल जायेगा, कम हो जाएगा।

जयगुरुदेव नाम प्रभु, भगवान का है। बराबर जयगुरुदेव नाम की रट लगाये रहो

जय गुरु देव नाम प्रभु भगवान का है। गुरु महाराज का जगाया हुआ नाम है तो बराबर नाम ध्वनि की रट लगाए रहो। अंतर में बराबर नाम ध्वनि बोलते रहो। नाम ध्वनि बोलते रहोगे तो राहत रहेगी।

जिनको रोग है वह तो बराबर बोलते ही रहें, तकलीफ न आवे इसके लिए भी बराबर बोलते रहें

महाराज जी ने कहा कि जिनको तकलीफ है वह लोग तो बराबर बोलते ही रहो और जिनको तकलीफ नहीं है वह लोग भी बोलते रहें तो यह जो भय है, वह निकल जाएगा, डर निकल जाएगा कि कोरोना आ रहा है, कोरोना बीमारी है, जानलेवा है, इससे हम मर जाएंगे। यह भय धीरे-धीरे निकलेगा। आपके अंदर मजबूती आएगी। आपके अंदर दृढ़ता आएगी और जो लोग पीड़ित हो, रोग के चक्कर में पड़ गये या ऐसे भी बीमारी जो मौसम कि लग गई है, कोरोना ही है तो उनको भी बोलते रहने से राहत मिलेगी।

तो बराबर जो एकदम स्वस्थ हो, तकलीफ ना आवे, बीमारी ना आवे और आवे तो हम उसको झेल ले जाएं, उसके लिए आप जय गुरु देव नाम की ध्वनि बराबर अंतर में बोलते रहो।

जयगुरुदेव जयगुरुदेव जयगुरुदेव जय जयगुरुदेव

जयगुरुदेव नाम ध्वनि ऐसे ही बराबर बोलते रहो। कोई काम करो, लगन से करो, दिल दिमाग लगाकर के करो। वहां बोलना जरूरी नहीं है। क्योंकि ध्यान आपका जय गुरु देव नाम बोलने में चला जाए, आपके काम में रुकावट आवे तो मैं यह नहीं कहता हूं। आप जब तक काम करो, कोई भी काम करते हो, कोई भी सेवा करते हो, जब तक सेवा करो, मन को उसमें लगाए रहो और खाली जब बैठो तो जय गुरु देव नाम की ध्वनि अंतर में बोलते रहो, बराबर गुरु का ध्यान बराबर प्रेमियों करते रहो।

।।जयगुरुदेव।।
परम सन्त बाबा उमाकान्त जी महाराज आश्रम उज्जैन (म.प्र)।