You are currently viewing लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड में मारे गए किसानों को कैंडल मार्च निकालकर दी श्रद्धांजलि

लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड में मारे गए किसानों को कैंडल मार्च निकालकर दी श्रद्धांजलि

समर्थ किसान पार्टी के तत्वावधान में ग्राम घोसरा मजरा पूरब शरीरा में लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड में मारे गए किसानों को कैंडल मार्च निकालकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने किसानों के हत्यारों को फांसी दो…फांसी दो….किसान विधेयक वापस लो…वापस लो के नारे लगाए।

समर्थ किसान पार्टी द्वारा पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत पार्टी नेता एवं पूर्व जिलाध्यक्ष प्रेम चन्द्र केसरवानी की अगुवाई में किसानों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं का एक जत्था गांव में घूम घूम कर कैंडल मार्च निकाला और मारे गए किसानों को याद किया। इस दौरान लोगों के ने हाथों में मोमबत्ती जलाकर जुलूस निकाला।

इस अवसर पर मौजूद रहे लोगों को संबोधित करते हुए पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष प्रेम चन्द्र केसरवानी ने कहा कि लखीमपुर खीरी में केंद्र सरकार के गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा उर्फ टेनी के बेटे आशीष मिश्रा उर्फ मोनू मिश्रा ने निर्दोष अन्नदाताओं को जबरन अपनी सत्ता की हनक के चलते गाड़ियों से रौंद दिया जिससे कई किसानों की अकारण एवं असमय मौत हो गई। आगे कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार पूरी तरह से घटना की जिम्मेदार है और घटना के बाद भी दोषियों को बचाने पर लगी है।

आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी हुई जबकि अजय मिश्रा उर्फ टेनी मिश्रा को अभी तक केंद्रीय मंत्रिमंडल से बर्खास्त नहीं किया गया। पार्टी के वरिष्ठ नेता परिहार सिंह ने केंद्र सरकार से अजय मिश्रा उर्फ टेनी मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग की है ताकि निर्दोष किसानों की मौत की निष्पक्ष जांच हो सके। आगे कहा कि दोषियों को फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर फांसी दी जाए और मृत किसानों को शहीद का दर्जा दिया जाए। इस अवसर पर विजय सिंह लोधी, कमलेश कुमार, राजाराम लोधी, नरेश यादव, महेश सरोज, लल्लू सिंह आदि मौजूद रहे।