You are currently viewing किसान सम्मान निधि किसानों को प्रति चार माह में रू 6000 प्रदान किया जाए…अजय सोनी

किसान सम्मान निधि किसानों को प्रति चार माह में रू 6000 प्रदान किया जाए…अजय सोनी

किसानों की आय दुगुनी करने के वादे से किसानों को गुमराह करने के लिए लाए गए विवादास्पद किसान अध्यादेश विधेयक…अजय सोनी

समर्थ किसान पार्टी के नेता एवं जिला पंचायत सदस्य अजय सोनी ने केंद्र सरकार से किसानों को किसान सम्मान निधि के रूप में प्रति चार माह में रू 6000 प्रदान किए जाने की मांग की है। अजय सोनी के मुताबिक किसानों को प्रति चार माह में मिलने वाला रू 2000 अपर्याप्त है और किसी भी दृष्टि से इसे किसान सम्मान निधि नहीं कहा जा सकता। आगे कहा कि केंद्र सरकार वास्तव में अगर किसानों का सम्मान करना चाहती है तो भीख की तरह नहीं बल्कि सम्मानजनक धनराशि किसानों को प्रदान करे।

ग्राम बेला फत्तेपुर में किसान चौपाल में बोलते हुए अजय सोनी ने कहा किसान देश का अन्नदाता है। किसानों को भी सम्मान के साथ जीने का पूरा अधिकार है। अगर केंद्र सरकार बड़े बड़े उद्योगपतियों को हजारों करोड़ रू अनुदान या पैकेज के रूप में दे सकती है तो देश के किसानों के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार क्यूं कर रही है। केंद्र सरकार को चाहिए कि किसानों को प्रति चार माह में रू 6000 अवश्य प्रदान करे।

आगे कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन किसान अध्यादेश विधेयक वास्तव में केंद्र सरकार द्वारा साल 2022 तक किसानों की आय दुगुनी करने के वादे से किसानों को गुमराह करने एवं किसानों का ध्यान आय दुगुनी किए जाने से भटकाने के लिए हैं। यह देश के करोड़ों किसानों के साथ केंद्र सरकार द्वारा किया जा रहा छलावा है। जिसका समय आने पर देश के करोड़ों किसान केंद्र सरकार से बदला लेंगे।

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन किसान अध्यादेश विधेयको को वापस लिए जाने की मांग करते हुए अजय सोनी ने कहा कि किसानों को बर्बाद करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा ऐसे विवादास्पद विधेयक लाए गए हैं। देश की जनता और देश के करोड़ों किसान किसी भी स्थिति में इन विधेयकों को मंजूर नहीं करेंगे। लिहाजा जल्द से जल्द केंद्र सरकार तीनों किसान विधेयकों को वापस ले। इस अवसर पर अशोक विश्वकर्मा, जुम्मन अली, देशराज पाल, राकेश यादव, अशोक कुमार, पन्ना लाल आदि मौजूद रहे।