You are currently viewing कोरिया वन मंडल में एक ही परिक्षेत्र पर वर्षो से जमे अंगत की पैर की तरह वर्षा से काबिज है बैकुंठपुर वनपरिक्षेत्रा अधिकारी

लोकेशन-बैकुंठपुर
कोरिया -वनमंडल
छत्तीसगढ़
रिपोर्ट-छ.ग स्टेट हेड पंकज शुक्ला

स्लंग-कोरिया वन मंडल में एक ही परिक्षेत्र पर वर्षो से जमे अंगत की पैर की तरह वर्षा से काबिज है बैकुंठपुर वनपरिक्षेत्रा अधिकारी

एंकर- वन विभाग में वर्षो से काबिज हैं अधिकारी

वन विभाग में कुछ अधिकारी और कर्मचारी वर्षो से जमे हुए हैं। वर्षो से एक ही स्थान पर जमे इन अफसर, कर्मचारियों की पहुंच के आगे नियम कानून ढीले पड़ते नजर आ रहे हैं।

बैकुंठपुर में अखिलेश मिश्रा डिप्टी रेंजर से शुरूआत की जाए तो कई दिलचस्प पहलू सामने आते हैं। डिप्टी रेंजर से सुरूआत बैकुंठपुर वन परिक्षेत्र मे ही किऐ है हालाँकी देखते ही देखते अखिलेश मिश्रा का परमोशन भी हो गया वो फुल प्लेस वनपरिक्षेत्रा अधिकारी बन गये पिछले लगभग 10 वर्षो से तैनात हैं। नियमों की मुताबिक इस पद पर छह वर्ष से ज्यादा तैनात नहीं रह सकते फिर भी इनके पांव अंगद की तरह जमे हुए हैं। लगभग 12 वर्षो से यहां अपना पांव जमाए हुए हैं। ऐसे ही और कई वन दारोगा और कर्मचारी वर्षो से यहां जमे हैं। वन विभाग में वर्षो से काबिज इन अधिकारियों और कर्मचारियों की पहुंच होने के कारण इन पर कोई हाथ डालने को तैयार नहीं है। यही नहीं सन 2018 में अखिलेश मिश्रा पर तो सिपाही कीं भर्ती पर गंभीर आरोप भी लग चुके हैं। लेंकिन मिश्रा जीं उसमे भी अपनी उची पहुच बनाकर मामला को शाँत करवा लिया इतना ही नही अवैध कटाई के भी आरोप लग चुके हैं वैसे तो देखा जाऐ त़ो इन दिनो रेंजर को अपनी नौंकरी बचाने के लिऐ दिन रात जंगलो पर निगरानी रखनी पडती हैं जहाँ थोडी चुक होती है वहाँ.वनपरिक्षेत्रा अधिकारी को निलंबित कर दिया जाता हैं अब सोचने वाली बात ऐ हैं की अखिलेश मिश्रा वनपरिक्षेत्रा अधिकारी बैकुंठपुर मे पदस्थ हैं जो राज्य शासन प्रशासन के लिऐ सवालिया निशान खडा
करता है