अजमेर के मदार स्टेशन पर भी बने लोको पायलट मालगाड़ी लॉबी: सांसद भागीरथ चौधरी

सादडी पाली*अजमेर के मदार स्टेशन पर भी बने लोको पायलट मालगाड़ी लॉबी: सांसद भागीरथ चौधरी**लोक सभा बजट सत्र के दौरान नियम 377 में रखा मुद्दा, उठाई लोको पायलटो की मांग*।अजमेर संासद श्री भागीरथ चौधरी ने बजट सत्र 2021-22 के दौरान आज लोकसभा में नियम 377 के अधिन अविलम्बीय लोक महत्व के बिन्दु पर चर्चा के दौरान उत्तर पश्चिमी रेलवे के अजमेर मुख्यालय को उपेक्षित कर लगातार दर्जा घटाते हुए लोको पायलट मालगाडी लॉबी को समाप्त होने से बचाते हुए अजमेर के मदार स्टेशन पर 2008 मंे प्रस्तावित मालगाडी लॉबी को शीघ्र प्रारम्भ करानें की महती स्वीकृति आगामी बजट 2021-22 मे जारी करानें का पूरजोर मुद्दा उठाया। अजमेर सांसद श्री भागीरथ चौधरी ने सदन में बोलते हुए रेल मंत्री को अवगत कराया कि वर्तमान में उत्तर पश्चिमी रेल्वे के अजमेर मण्डल के लोको रनिंग कर्मचारियों के हितों को अनदेखा कर जयपुर मण्डल के फुलेरा के रनिंग कर्मचारियों को अनुचित लाभ प्रदान किया जा रहा है एवं अजमेर मण्डल के कार्य क्षेत्र में समस्त मालगाडियों के संचालन में जयपुर मण्डल के फुलेरा मुख्यालय पर गाडी कार्य दिया जा रहा है जोकि अजमेर मण्डल के लोको रनिंग कर्मचारियों के साथ कुठाराघात है इसके चलते इनके चैनल प्रमोशन, स्थानान्तरण / मासिक आय आदि पर विपरित प्रभाव पड रहा है। इसलिए आप अजमेर मण्डल के कार्यक्षेत्र में स्थानीय रनिंग स्टॉफ द्वारा कार्य किया जा सके इस प्रकार का बीट निर्धारण करावें इसके अतिरिक्त आप फुलेरा मुख्यालय जयपुर मण्डल एवं अजमेर मुख्यालय द्वारा किए जा रहे मालगाडी संचालन का चित्रण का अवलोकन कराने पर स्पष्ट प्रतीत होता है कि वर्तमान में अजमेर मुख्यालय वास्तविक रूप से अपेक्षित है इस हेतु समय के साथ – साथ रेल विभाग में हो रही प्रगति को दृष्टिगत रखते हुए यह निश्चित है कि मदार स्टेशन पर क्रू चेंजिंग पॉइन्ट एवं मालगाडी लॉबी खोलना इनकी समस्त समस्याओं का न सिर्फ स्थाई निराकरण है अपितु यह रेल हित एवं देशहित में भी है। क्यांेकि मदार लॉबी से सभी दिशाओं में कम स्टॉफ में गाडी कार्य करवाया जा सकता है। इसमें न ही स्टॉफ को आवास देना होगा और न ही कोई अन्य मूलभूत सुविधा की व्यवस्था करनी होगी। अतः माननीय अध्यक्ष महोदय आप के माध्यम से केन्द्रीय रेल मंत्री महोदय से निवेदन है कि आप वर्ष 2008 में प्रस्तावित मदार स्टेशन पर क्ररू लॉबी (मालगाडी) की शुरूआत करा कर मालगाडी संचालन करावें। इसके साथ ही जब तक मदार लॉबी शुरू न हो अजमेर स्टॉफ को मारवाड में वन बाई वन बुक करावें और फुलेरा चित्तोड खण्ड मे भी जयपुर मण्डल का हस्तक्षेप बन्द करावें। ज्ञात रहे कि लोको पायलट भारतीय रेल की रीढ की हड्डी है और यह महत्वपूर्ण कार्य करने वाले रेलकर्मी किसी भी प्रकार के मानसिक तनाव में नहीं रहने चाहिए इस सम्बन्ध में गत वर्ष अजमेर मण्डल के रनिंग कर्मचारी (लोको पायलट) का प्रतिनिधि दल संासद श्री चौधरी के आवास पर मिला और उन्होने उनके साथ हो रहे अन्यायपूर्ण व्यवहार के विषय मंे अवगत कराया था जिस पर श्री चौधरी ने रेल विभाग एवं रेलमंत्रालय को पत्र भी लिखा था ।बयूरो रिपोर्ट ललित दवे