महराजगंज:पुलिस लाइन सभागार में मानव तस्करी रोध पर जनपद स्तरीय कार्यशाला का किया गया आयोजन

महराजगंज। पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता के निर्देशन मे आज दिनांक 20/09/2020 को मानव तस्करी रोध स्वरक्षा कार्यक्रम जो करितास इंडिया के सहयोग से पूर्वांचल ग्रामीण सेवा समिति गोरखपुर द्वारा महराजगंज जनपद के सीमा क्षेत्र में संचालित है। इसी के अंतर्गत आज जनपद स्तरीय कार्यशाला का आयोजन अपर पुलिस अधीक्षक निवेश कटियार(नोडल अधिकारी) की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें मानव तस्करी रोकने, जेजे एक्ट, पोक्सो एवं बाल श्रम निषेध विषय पर जानकारी दी गई। इस कार्यशाला का शुभारंभ एएसपी, प्रशिक्षक, एसएसबी डिप्टी कमांडेंट, सीडब्ल्यूसी के द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया। तत्पश्चात संस्था के निदेशक फादर जैसन ने सभी का स्वागत करते हुए बताया कि पिछले 4 वर्षों से इंडो नेपाल सीमा क्षेत्र के गांव में स्वरक्षा कार्यक्रम के तहत जन जागरूकता किया जा रहा है एवं ठूठीबारी, सोनौली में एसएसबी के साथ निगरानी बूथ संचालित हो रहा है, जिसके अंतर्गत अब तक दर्जनों पीड़िता को बचाकर मदद किया गया है। जिसमें एसएसबी एवं पुलिस का सराहनीय योगदान है। अपने संबोधन में अपर पुलिस अधीक्षक निवेश कटियार ने बताया कि इस जनपद को मानव तस्करी से मुक्त करना है इसके लिए हर स्तर पर पूर्ण प्रयास किया जायेगा। एवं नियमित रूप से एस जे पी यू (स्पेशल ज्वानाइल पुलिस युनिट) की बैठक करके आपसी सामंजस्यता बनाकर मानव तस्करी पर अंकुश लगाया जायेगा। इस कार्यशाला के मुख्य प्रशिक्षक के रूप में पूर्व सदस्य बाल कल्याण समिति गोरखपुर के डॉ0 मुमताज खान ने जेजे एक्ट के बारे में बात करते हुए बताया कि यह बच्चों का अधिकारों का संरक्षण का कानून है जिसमें देख रेख और संरक्षण की बात बताई गई। इसमें पुलिस बाल कल्याण अधिकारी, बाल कल्याण समिति और प्रत्येक नागरिक के कर्तव्य के बारे में उल्लेख करते हुए कानून में फंसे बच्चों की मदद के लिए धाराओं पर भी चर्चा की गई। एवं पोक्सो एक्ट पर बच्चों को लैंगिक अपराध के संरक्षण अधिनियम पर जानकारी देते हुए अपराध, गंभीर अपराध पर जानकारी दी गई, तदोपरांत चाइल्डलाइन समन्वयक श्याम सिंह ने बाल श्रम पर अपना वक्तव्य रखा इसके अंतर्गत नो चाइल्ड लेबर अभियान को सफल बनाने की बात कही गई। एसएसबी कमांडेंट ने बॉर्डर पर जवानों का हर स्तर में सहयोग करने के लिए आश्वासन दिया एवं नेटवर्किंग के जरिए मानव तस्करी को रोकने का प्रयास किया जायेगा। महराजगंज के अभियोजन बिभाग के ए पी ओ बिकास, विवेक सिंह ने कानून के धाराओं पर जानकारी दी। एवं खुला सत्र का संचालन बाल कल्याण समिति महाराजगंज के सदस्य राजेश वर्मा ने किया जिसमें उपरोक्त विषयों पर हर डाउट्स को स्पष्ट किया जिससे क्षेत्र में हो रहे समस्याएं, धारा, कानून की बात स्पष्ट किया गया। युनिसेफ के प्रतिनिधि विराज शर्मा ने बच्चों के हर स्तर पर संरक्षण की बात कही। पीजीएसएस निचलौल के प्रभारी सिस्टर लिसी के धन्यवाद से कार्यशाला का समापन हुआ। इस कार्यशाला में जनपद के समस्त थानों के पुलिस, बाल कल्याण अधिकारी, एसएसबी डिप्टीकमांडेंट अंजनी कुमार तिवारी,ए0एच0टीयू प्रभारी शकील अहमद, का0 अमावश कुमार, संरक्षण अधिकारी जकी अहमद, चाइल्डलाइन, परवीक्षा अधिकारी सहित जी0एन0के प्लान के विभा चटर्जी, संरक्षण अधिकारी जकी अहमद, शक्ति वाहिनी अनिल मिश्रा, बाल कल्याण अधिकारी नीतु गुप्ता, समयधारी पाण्डेय, राजेश मिश्रा एवं पीजीएसएस निचलौल,नौतनवा के स्टाफ उपस्थित रहे।

ब्यूरो रिपोर्ट