महराजगंज:कारी नूरूलहुदा मिस्बाही को जामिया अशरफिया में सलाहकार कमेटी का सदस्य मनोनीत होने पर उलमा मशाइख़ बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने दी मुबारकबाद

महराजगंज। हिन्दुस्तान की अजीमुश्शान दीनी व इल्मी दर्सगाह अल्जामिअतुल अशरफिया मुबारकपुर आजमगढ़ अरबिक यूनिवर्सिटी की कार्यकारिणी बैठक में गोरखपुर निवासी ख़लीफ ए हुजूर अशरफ ए मिल्लत हज़रत क़ारी नूरूलहुदा मिस्बाही को सलाहकार कमेटी (मजलिसे शूरा) का सदस्य चुने जाने पर वर्ल्ड सूफी फोरम के चेयरमैन एवं ऑल इंडिया ओलमा मशाइख़ बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष हज़रत सय्यद मुहम्मद अशरफ किछौछवी साहब ने क़ारी नुरूलहुदा मिस्बाही को मुबारकबाद पेश किया और अपने नुमाइंदे मास्टर शमीम कुरैशी अशरफी को उनके पैतृक गांव चिलबिलवां स्थित ख़ानक़ाह ” बरकातिया अजीजिया अशरफिया” पोस्ट भटहट चिलबिलवां गोरखपुर में गुलदस्ता का तोहफा पेश करने भेजा और फिर नुमाइंदे ने मोबाइल के ज़रिए हज़रत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी साहब से क़ारी नूरूलहुदा मिस्बाहीसे बात कराई,हज़रत ने उनकी हौसला अफ़जाई फ़रमाते हुएअपनी दुआओं से नवाज़ा। साथ ही उनके वालिदे मोहतरम हज़रत अल्लामा अल्हाज मुनव्वर हुसैन मिस्बाही की ख़ैरियत लेते हुवे उनकी सेहत व सलामती की दुआ फ़रमाई। मास्टर शमीम अशरफी मीडिया इंचार्ज WSF& AIUMB ने “यूपी फाइट टाइम्स” की टीम को बताया कि मौलाना क़ारी नुरूलहोदा मिस्बाही को इतनी कम उमरी में इतनी बड़ी दर्सगाह का रुक्न बनाए जाने पर उन्हें ही क्या सारे ओलमा ए केराम को आप पर फ़ख्र है। हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि बैरुने मुल्क के भी ओलमा ए केराम ने बेहद खुशी का इज़हार किया। क्योंकि क़ारी नूरूलहुदा साहब ने जिस तरह मदारिस के मसायल को अपने अखबारात के जरिए हुकूमत तक पहुंचाए हैं और अपनी मुखीलिसाना व मुहब्बताना अंदाज से सबकी ख़िदमत करते रहते है। इस होनहार शख्सियत को इस पद पर नियुक्ति करने पर हम यूनिवर्सिटी के जिम्मेदारों को भी मुबारकबाद पेश करते हैं। क़ारी साहब को इस पद पर नियुक्त होने पर ओलमा ए केराम में खुशी की लहर दौड़ गई है। और हरतरफ से मुबारकबाद और दुआएं मिल रही हैं।

ब्यूरो रिपोर्ट