महिमा कैरियर इंस्टिट्यूट लगातार 27 सालों से विकलांगो एवं सामान्य लोगों के साथ विभिन्न प्रकार का प्रशिक्षण करा

महिमा कैरियर इंस्टिट्यूट लगातार 27 सालों से विकलांगो एवं सामान्य लोगों के साथ विभिन्न प्रकार का प्रशिक्षण करा कर उन्हें रोजगार स्थापित करा रही है संस्था महिमा कैरियर इंस्टिट्यूट लगातार करो ना कोविड-19 जैसी महामारी में भी जरूरतमंद एवं असहाय विकलांग और सामान्य लोगों को उनकी योग्यता और अनुभव के अनुसार विभिन्न प्रकार का प्रशिक्षण देकर रोजगार स्थापित करा रही है हैं संस्था का मेन उद्देश्य गरीब बेबस लाचार भीख मांग रहे मजबूर विकलांग लोगों को लगातार जागरूककर समाज में फैली बेरोजगारी यों को दूर करने के लिए विभिन्न प्रकार के अभियानों को चलाकर रोजगार के नए-नए आयात निर्यात का काम कर रही है संस्था लगातार विकलांगों के साथ समाज में जरूरत की वस्तु को उत्पादन के रूप में तैयार करा कर जैसे चिकनकारी जरी जरदोजी एवं विभिन्न प्रकार के मास्क बनाना सेंट्रलाइज फिनायल रूम फ्रेशनर एवं विभिन्न प्रकार के उत्पादन को तैयार करा कर कम लागत पर लोगों तक पहुंचा रही है जिससे जरूरतमंदों को रोजगार मिल सके और हर घर पर हाथ से बने स्वदेशी चीजों का इस्तेमाल हो सके संस्था महिमा कैरियर इंस्टीट्यूट स्वदेशी अपनाओ देश बचाओ कीअभियान को चलाकर विभिन्न प्रकार की रोजगार स्थापित करा रही है महिमा कैरियर इंस्टिट्यूट के द्वारा विकलांगों को करोना लॉक डाउन होने पर भी महिलाओं को विभिन्न प्रकार के कार्यों को शिखा कर उन्हें रोजगार दे रही है संस्था ने इस लॉकडाउन के तहत भी बहुत-सी महिलाओं लड़कियों और जरूरतमंद लोगों को प्रशिक्षित कर रोजगार के लिए प्रेरित किया लोग अपना काम सीख कर खुद कर रहे हैं संस्था महिमा केयर इंस्टीट्यूट करौना जैसी महामारी के संकट के समय भी विकलांगो एवं जरूरतमंदों को उत्साहित कर रोजगार के लिए योग्य एवं अनुभवी बनाकर उनके योग्यता क्षमता अनुसार शिक्षित कर विभिन्न प्रकार के कोर्सों को शिखा कर उन्हें रोजगार स्थापित करारही है संस्था का मूल उद्देश्य समाज में फैली कुरीतियों को दूर कर विभिन्न प्रकार से रोजगार को आयाम देना है