You are currently viewing मंडलायुक्त ने किया कोविड-19 इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का औचक निरीक्षण

जनपद बलरामपुर
*कोरोना वैक्सीन वितरण की पूर्व तैयारियां करे सुनिश्चित, कोरोना फ्रंटलाइन वर्कर का डाटा बनाने का कार्य पूर्ण कर ले –

संवाददाता राधेश्याम गुप्ता

मंडलायुक्त देवीपाटन मंडल गोंडा एसवीएस रंगाराव*

दाल ,आलू, प्याज व आवश्यक खाद्य सामग्री की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ चलाए अभियान – मंडलायुक्त देवीपाटन मंडल एसवीएस रंगाराव

नीति आयोग की रैंकिंग में प्रथम स्थान प्राप्त होने पर मंडलायुक्त ने की सराहना

मंडलायुक्त ने किया कोविड-19 इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का औचक निरीक्षण

मंडलायुक्त देवीपाटन मंडल व नोडल अधिकारी कोविड-19 एसवीएस रंगाराव द्वारा जनपद बलरामपुर के एक दिवसीय भ्रमण के दौरान कोविड-19 रोकथाम एवं बचाव , धान खरीद, आवश्यक खाद्य वस्तुओं की जमाखोरी के विरुद्ध अभियान, कानून व्यवस्था आदि के संबंध में कलेक्ट्रेट में समीक्षा बैठक की गई। समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी बलरामपुर कृष्णा करुणेश व पुलिस अधीक्षक बलरामपुर देव रंजन वर्मा उपस्थित रहे।
कोविड-19 रोकथाम एवं बचाव की समीक्षा करते हुए मंडलायुक्त द्वारा कुल एक्टिव केस, कुल पॉजिटिव केस व कुल स्वस्थ हुए व्यक्तियों की जानकारी ली गई। मंडलायुक्त द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी को जनपद में ही आरटीपीसीआर टेस्टिंग लैब स्थापित किए जाने की दिशा में कार्रवाई किए जाने निर्देश दिया गया। मंडलायुक्त द्वारा कोविड-19 मरीजों हेतु ऑक्सीजन व दवा की उपलब्धता की जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी से ली गई। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में ऑक्सीजन व दवा की कोई कमी नहीं है। मंडलायुक्त द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी को स्वास्थ्य संबंधी गंभीर रोगों से प्रभावित व्यक्तियों को चिन्हित किए जाने का निर्देश दिया गया। मंडलायुक्त द्वारा जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता से पूर्व वैक्सीन वितरण की तैयारियां पूर्ण कर लिए जाने का निर्देश दिया गया। मंडलायुक्त ने कहा कि शासन के निर्देशानुसार सर्वप्रथम कोरोना वैक्सीन कोरोना फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जाएगी, इसके लिए डाटा एकत्रित कर लें।
आगामी त्योहारों के दौरान शांति व्यवस्था को लेकर तैयारियों की समीक्षा करते हुए मंडलायुक्त ने कहा कि दिपावली में पटाखा विक्रय हेतु खुली जगह आवंटित की जाए। आबादी वाले स्थानों में पटाखा विक्रय ना होने पाए। मंडलायुक्त द्वारा एनएसए के तहत कारवाही की जानकारी ली गई । पुलिस अधीक्षक बलरामपुर ने बताया कि एनएसए के तहत तीन आरोपियों पर कार्रवाई की जा रही है। मंडलायुक्त द्वारा गैंगस्टर एक्ट के तहत संपत्ति कुर्क किये जाने की समीक्षा की गई। धान खरीद की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में 29 क्रय केंद्र बनाए गए हैं व 12 हजार मिट्रिक टन खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जनपद में अब तक लक्ष्य के सापेक्ष 5.62% की धान खरीद हो चुकी है। मंडलायुक्त द्वारा धान क्रय केंद्रों के औचक निरीक्षण किए जाने का निर्देश दिया गया। मंडलायुक्त द्वारा जिलाधिकारी को आलू, प्याज, दाल व आवश्यक खाद्य सामग्रियों की जमाखोरी के विरुद्ध छापेमारी अभियान चलाए जाने का निर्देश दिया गया। मंडलायुक्त ने कहा कि एसडीएम की अध्यक्षता में टीम बनाकर छापेमारी की जाए।
मंडलायुक्त द्वारा जनपद बलरामपुर को नीति आयोग के द्वारा जारी प्रगति रैंकिंग में प्रथम स्थान प्राप्त होने पर जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी को बधाई दी गई व समस्त संबंधित विभागों के अधिकारियों के कार्यों की सराहना की गई।
मंडलायुक्त द्वारा कोविड-19 इंटीग्रेटेड कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया गया। इस दौरान मंडलायुक्त द्वारा एल1 व एल2 हॉस्पिटल की वेबकास्टिंग का अवलोकन किया गया। मंडलायुक्त द्वारा कंट्रोल रूम में तैनात कर्मचारियों को होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड-19 मरीजों से प्रतिदिन हाल-चाल लिए जाने का निर्देश दिया गया।
समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी बलरामपुर कृष्णा करुणेश, पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी अमनदीप डूली,अपर जिलाधिकारी अरुण कुमार शुक्ल, अपर पुलिस अधीक्षक अरविंद मिश्र, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ घनश्याम सिंह, जिला विकास अधिकारी गिरीश चंद पाठक व अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।