श्रावस्ती, जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कोविड-19 रोकथाम हेतु बैठक सम्पन्न

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी कुमार हर्ष, अपर जिलाधिकारी योगानन्द पाण्डेय, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एपी भार्गव, अपर पुलिस अधीक्षक बी सी दुबे, उपजिलाधिकारी जे0 पी0 चैहान,अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ मुकेश मातनहेलिया, डी पी आर ओ किरन ,अधिशासी अधिकारी अवधेश कुमार सहित सम्बंधित अधिकारीगण मौजूद रहें

श्रावस्ती, 02 सितम्बर,2020।सू0 वि0।प्रदेश के मुख्य सचिव महोदय द्वारा कोविड-19 के रोकथाम हेतु दिए गए आदेशो का सभी सम्बंधित विभागीय अधिकारी अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित समय से सुनिश्चित करे,ताकि कोरोना के संक्रमित मरीज किसी भी दशा में बढ़ने न पावे,और जनपद को कोरोना बीमारी से मुक्ति मिल सके।
उक्त निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार में अपराह्न 09ः00 बजे कोविड-19 रोकथाम से सम्बंधित अधिकारियों के साथ बैठक करने के दौरान जिलाधिकारी टी0के0शिबु ने दिया है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि इस बीमारी से लोगो को बचाने हेतु अभी भी लोगो को और जागरूक करने की आवश्यकता है, जो जन सहयोग से लोगो को किया जा सकता है, इस बीमारी से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंसिग अपनाकर और अनिवार्य रूप से मास्क लगाकर इस बीमारी से बचा जा सकता है। इसके लिए लोग आगे आवे, वे खुद सोशल डिस्टेंसिग अपनाए, मास्क लगाए तथा अपने आस-पड़ोस लोगो को भी इसका इस्तेमाल हेतु प्रेरित करे। जिलाधिकारी ने कहा कि आज हम सभी कोविड-19 के संकट से पीड़ित हैं और बिना जन सहयोग से इस रोग पर विजय नहीं प्राप्त की जा सकती है। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी तहसील/ विकास खण्डों में अधिक से अधिक जांच कराई जाए और सभी कार्यालयों में बाहर से आने वाले लोगों का इन्फ्रारेड थर्मोमीटर से टेम्प्रेचर माप कर ही अन्दर प्रवेश दिया जाए। उन्होनें यह भी निर्देश दिया कि ऐसे चयनित स्थल जहां पर कोविड-19 के केस अधिक हैं निगरानी समिति में सम्भ्रान्त ब्यक्तियों को जोड़कर उनके द्वारा किये गये सर्वे की प्रतिदिन रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। तथा सम्बन्धित स्थलों पर शतप्रतिशत सैम्पलिंग भी कराया जाय ताकि यदि कोई संक्रमित व्यक्ति मिलता भी है तो तत्काल उन्हे इलाज मुहैया कराकर जन जन को कोरोना संकम्रण से बचाया जा सके।
जिलाधिकारी ने कहा कि जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग व अन्य विभागों के सहयोग से जनपद में नोबेल कोरोना वायरस के प्रभाव को रोकने हेत निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। जनपद स्तर पर जिलाधिकारी कार्यालय कलेक्ट्रेट में इंटीग्रेटेड कोविड-19 कंट्रोल रुम एवं कमांड सेंटर, श्रावस्ती की स्थापना की गई है। जनपदवासियों द्वारा इस रोग के लक्षण खांसी गले में खराश, बुखार, सांस लेने में तकलीफ अथवा कोविड-19 रोगी से निकट संपर्क होने की दशा में तत्काल सर्विलांस टीम निकटवर्ती सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तथा जनपद स्तरीय स्थापित इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल एवं कमान सेंटर श्रावस्ती 9454417486, 9454417485, 9044047486 , 9044287486 पर अवगत कराया जा सकता है। इंटीग्रेटेड कोविड-19 कंट्रोल एवं कमांड सेंटर श्रावस्ती द्वारा दूरभाष के माध्यम से होम आइसोलेशन में गए प्रत्येक व्यक्तियों से नियमित रूप से संवाद करते हुए उनके स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की जा रही है। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया 01 सितम्बर,2020तक जनपद श्रावस्ती में आरटी पीसीआर द्वारा कुल 23216 एन्टी जेन टेस्ट कीट द्वारा कुल 17672 तथा ट्रूनाट मशीन द्वारा कुल673 जांचें कराई जा चुकी हैं। जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अथक प्रयासों से ही जनपद में मात्र 673 पॉजिटिव केस प्रकाश में आए हैं। कोविड-19 पॉजिटिव रोगियों हेतु कोविड-19 समर्पित चिकित्सालय भंगहा में संचालित है जहां पर भर्ती मरीजों को समय से नाश्ता भोजन व दवाएं उपलब्ध कराई जा रही है। स्वास्थ्य लाभ के उपरांत रिकवर्ड होने वाले रोगियों द्वारा दिए जाने वाले फीडबैक में उपलब्ध कराई जा रही सेवाओं के प्रति अच्छा फीडबैक दिया जा रहा है।उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 397 तथा नगरीय क्षेत्रों में 37 निगरानी समितियां द्वारा घर घर जाकर सर्वे किया जा रहा है,अब तक जिले में 673 पॉजिटिव केस प्रकाश में आये है, जिनके सापेक्ष 5558 लोगो को कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की गई है।
जिले में कुल 673 कोविड-19 पॉजिटिव रोगियों में स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़कर 489 हो गई है। कोविड-19 समर्पित चिकित्सालय भगंहा में वर्तमान समय में 22 मरीज भर्ती है तथा होम आइसोलेशन में कुल 126 मरीज भर्ती हैं।