सम्भावित बाढ़ से बचाव हेतु सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक सम्पन्न

सम्भावित बाढ़ के मद्देनजर 18 बाढ़ चैकियों की स्थापना कर नामित किये गये अधिकारी

ब्यूरो रिपोर्ट मुईनुद्दीन अंसारी श्रावस्ती, यूपी फाइट टाइम्स /श्रावस्ती 10 जून, 2020/सू0वि0/बाढ़ आपदा अत्यधिक विनाशकारी प्राकृतिक आपदा है और जब यह आती है तो बचाव का समय सीमित होता है। इस लिए सम्बन्धित बाढ़ चैकी पर तैनात किये गये प्रभारी अपने-अपने बाढ़ चैकियों का निरीक्षण करले तथा उनके साथ चैकी पर तैनात कर्मचारियों से भी समन्वय बना कर बाढ़ चैकी के अन्तर्गत आने वाले गाॅवों/मजरों का भी भ्रमण कर लोगों को बाढ़ से बचाव हेतु अपनी कार्य योजना/सुझाव उपलब्ध करायें। ताकि सम्भावित बाढ़ आने के दौरान तत्काल लोगो को राहत दी जा सके।
उक्त विचार कलेक्ट्रेट सभागार में सम्भावित बाढ़ से बचाव हेतु सम्बंधित विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक करने के दौरान जिलाधिकारी यशु रूस्तगी ने व्यक्त किया है। उन्होने अधिशाषी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड एवं बाढ़ कार्य खण्ड श्रावस्ती के अधिशाषी अभियन्ता को निर्देश दिया कि वे जिले में भ्रमण कर यह देख ले कि बाढ़ के दौरान उनकी कौन-कौन सड़को पर पानी आ जाता है और क्षतिग्रस्त होने की सम्भावना रहती है। इसके साथ ही बाढ़ से प्रभावित गाॅवों जंहा बचाव कार्य कराये गये हैं की सूची सम्बन्धित उप जिलाधिकारी को तत्काल उपलब्ध कराया जाए ताकि उप जिलाधिकारी स्थलीय निरीक्षण करके वर्तमान स्थिति की रिपोर्ट प्रस्तुत कर सकें। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने सभी कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों/अभियन्ताओें को निर्देश दिया है कि वे बाढ़ सवेंदनशील क्षेत्रों में बचाव हेतु कराये जाने वाले कार्यों का आकलन करके समुचित प्रस्ताव यथाशीघ्र उपलब्ध कराया जाए ताकि शासन को प्रेषित किया जा सके।
जिलाधिकारी ने पूर्व में आई बाढ़ के दौरान राहत कार्यों से जुडे विभाग क्रमशः बाढ़ कार्य खण्ड, सिंचाई, पूर्ति, पंचायत, जल निगम, विद्युत, पशुपालन, स्वास्थ्य एवं पुलिस विभाग सहित अन्य सम्बन्धित विभाग अन्य सम्बन्धित विभाग राहत एवं बचाव हेतु अभी से अपनी पूरी कार्य योजना और कम्यूनिकेशन प्लान तैयार करलें ताकि सम्भावित बाढ़ के मद्देनजर तत्काल लोगों को राहत दी जा सके। जिलाधिकारी ने बताया है कि सम्भावित बाढ़ के मद्देनजर रखते हुए जिले में 18 बाढ़ चैकिया स्थापित करके प्रभारियों की तैनाती कर दी गयी है इसके अलावा तहसीलवार तीन नोडल अधिकारी भी बनायें गये है। जो अपने अपने तहसीलों में बाढ़ आने पर निरन्तर मानीटरिंग करके राहत एवं बचाव हेतु सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करायेगें।
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अवनीश राय, अपर जिलाधिकारी योगानन्द पाण्डेय, उप जिलाधिकारी इकौना राजेश कुमार मिश्र, उप जिलाधिकारी जमुनहा आर0पी0 चैधरी,उप जिलाधिकारी भिनगा प्रवेन्द्र कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ए0पी0 भार्गव, तहसीलदार भिनगा राजकुमार पाण्डेय, तहसीलदार जमुनहा नरायण सिंह, तहसीलदार इकौना शिवध्यान पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी विनय कुमार तिवारी, सहायक महानिरीक्षक निबंधन पी0एन0 सिंह, जिला आबकारी अधिकारी पी0के0 गिरी, जिला समाज कल्याण अधिकारी राकेश रमन एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओमकार राणा सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।