वेतन न मिलने मिलने के चलते आकस्मिक मौत के शिकार हुए आधुनिकीकरण शिक्षक: आदिल खान

वेतन न मिलने मिलने के चलते आकस्मिक मौत के शिकार हुए आधुनिकीकरण शिक्षक: आदिल खान
नेशनल मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक संघ बदायूं के कैम्प कार्यालय ककराला में आज एक शोक सभा का आयोजन जिला अध्यक्ष आदिल खान के नेतृत्व में किया गया ।
इस अवसर पर अनेक आधुनिकीकरण शिक्षकों को संबोधित करते हुए आदिल खान ने कहा की उत्तर प्रदेश में लगभग 25 हजार आधुनिकीकरण शिक्षक केन्द्र सरकार द्वारा संचालित स्कीम फार प्रोवाइडिंग क्वालिटी एजुकेशन इन मदरसा में आधुनिक विषयों जैसें हिंदी अंग्रेजी गणित विज्ञान सामाजिक विज्ञान व कम्प्यूटर आदि की शिक्षा प्रदेश के लगभग 10 लाख छात्रों को प्रदान करते हैं ।
लेकिन यह विडम्बना कहें या हुकूमत की लापरवाही के उक्त आधुनिकीकरण शिक्षकों को पिछले 51 माह से अब तक वेतन के रूप में एक रूपया भी नहीं मिल सका है ।आपको बता दें की उक्त योजना के शिक्षकों को केन्द्र सरकार योग्यता अनुसार स्नातक को 6 हजार रुपये प्रति माह व परास्नातक या परास्नातक +बी एड को 12 हजार रुपये प्रति माह देने का प्रावधान शिक्षा मंत्रालय की गाइड लाइन में है । लोकडाऊन के चलते उक्त आधुनिकीकरण शिक्षकों की पारिवारिक हालत बद से बदतर हो चुकी है ।अनेक आधुनिकीकरण शिक्षक आकस्मिक मौत के शिकार हो रहे हैं अभी दो दिनों में ही दो आधुनिकीकरण शिक्षक उमा नाथ व जितेन्द्र गुप्ता का वेतन न मिलने के चलते हृदय गति रूकने से देहांत हो गया जो अत्यंत दुखद और सरकार की नाकामी है ।मैं मीडिया के माध्यम से सरकार से मांग करता हूँ की आकस्मिक मौत के शिकार हुए शिक्षकों को यथा शीघ्र मुख्यमंत्री राहत कोष या प्रधानमंत्री रातकोष से 10 -10 लाख रूपये की त्वरित मदद की जाये ।
इस अवसर पर दो मिनट का सभी आधुनिकीकरण शिक्षकों ने मौन रखा ।
कार्यक्रम में मुस्लिम खान, ताइफ खान , राशिद अली , मौ0 आलम शाहिद अख्तर आदि नमास परिवार के सदस्य मौजूद रहे ।
धन्यवाद ताइफ खान ने किया।
रिपोर्ट-रामबाबू पटेल व्यूरो चीफ करछना प्रयागराज उत्तर-प्रदेश
यूपी फाइट टाइम्स न्यूज पेपर (UFT NEWS 24)