गोंडा मसकनवा नवोदित साहित्य संस्थान उ०प्र० की मासिक काव्य गोष्ठी संपन्न

गोंडा मसकनवा नवोदित साहित्य संस्थान उ०प्र० की मासिक काव्य गोष्ठी संपन्न

रिपोर्ट नितिन शुक्ला गोंडा मसकनवा नवोदित साहित्य संस्थान उ० प्र० “के तत्वाधान में मासिक काव्य गोष्ठी रॉयलसन पब्लिक इंटर कॉलेज भोपतपुर( हथनी खास) गोंडा में संपन्न हुई जिसकी अध्यक्षता आदरणीय श्री वासुदेव तिवारी जी ने की ।गोष्ठी का संचालन सुधांशु बसंत व सरस्वती वंदना रामतेज शर्मा “तेज” ने किया _हे मां ओ मां तेरी पूजा करें हम,बंदन करें हम अभिनंदन करें हम। तत्पश्चात काव्य पाठ करते हुए राम सूरज वर्मा प्रकाश ने कहा_”तुम आदत ना डालो मेरे दिल में रहने की।जाने कब रुक जाए धड़कन ही तो है।।” इसके बाद वरिष्ठ कवि श्री हरि राम शुक्ल ने इस प्रकार से अपनी रचना प्रस्तुत की_”सत्य तो अमूर्त भ्रांति मूर्तिमान है। कौन जाने किस तरह का यह किसान है।” जोखू राम मौर्य अपनी रचना प्रस्तुत करते हुए कहा_”मां सरस्वती का पावन मंदिर कैसी सुंदरता न्यारी है, छात्र सभी फूलों की माला शिक्षक सभी पुजारी है।” बालकवि सूरज वर्मा ने अपनी रचना प्रस्तुत करते हुए कहा_”एक बार जिम्मेदारी का बोझ, अपने सिर पर ले कर तो देखो, लड़का बनकर तो देखो।”कवि रघु भूषण तिवारी ने पंचायत चुनाव पर व्यंग करते हुए कहा_”गांव गांव में घूम रहे हैं, मेडक सी है चाल। नेता पूछ रहे हैं हाल।”नवोदित साहित्य संस्थान के अध्यक्ष डा ०वी०एन०शर्मा ने देश की स्थिति पर व्यंग करते हुए कहा_”बड़े-बड़े ही रह जाएंगे, निम्न वर्गीय कम होंगे। देश बनेगा स्वर्ग हमारा, और स्वर्गीय हम होंगे।”गोष्ठी का संचालन कर रहे हैं कवि व पत्रकार सुधांशु बसंत ने नारी पर दोहा पढ़ा_”नारी से ही नर हुए, नारी से भगवान। नारी निंदा मत करो, नारी जग की शान।”उक्त अवसर पर क्षेत्र के श्री वीरेंद्र नाथ पांडे, श्री अर्जुन शुक्ला, राहुल शर्मा, शैलेश चौबे, राज शर्मा, अनूप कुमार शर्मा, माता प्रसाद पांडे, सहित अनेकों