नौतनवा:लॉकडाउन का असर,राखी एवं मिठाई की दुकानों से रौनक गायब

नौतनवा/महराजगंज। कहा जाता है कि रक्षाबंधन के पर्व को भाई और बहन के अटूट प्रेम की निशानी का प्रतीक माना जाता है। इस दिन बहने अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांध कर उनसे अपनी रक्षा का वचन लेते हुए उनकी लंबी उम्र की दुआएं भी मांगती है। पर इस बार रक्षाबंधन के त्योहार के एक दिन पूर्व रविवार को नौतनवा के बाजारों में कोई खास रौनक दिखाई नहीं दे रहा है। बाजार से लेकर नगर के विभिन्न चौराहों पर तरह-तरह की मिठाई एवं राखी की दुकानें सजी हुई हैं पर दुकानों पर इक्का-दुक्का ही ग्राहक नजर आ रहे हैं। नगर के चौक चौराहों पर पुलिस बल तैनात है। जिनके द्वारा लोगों से लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन कराते हुए आपस में सोशल डिस्टेंसिंग बनाने एवं मुंह पर मास्क लगाने की अपील की जा रही है। राखी विक्रेता विनोद पटवा ने बताया कि लगातार कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए महिलाएं बाजार में कम निकल रही हैं, जिस कारण पूर्व वर्ष की भांति इस बार बाजार में रौनक कम दिखाई दे रही है। वहीं मिठाई विक्रेता रवि मद्धेशिया का कहना है कि प्रदेश में हुए लॉकडाउन के कारण इस बार बाजार की रौनक खत्म हो गई है। मिठाई की दुकाने सजी हुई हैं पर दुकान पर कोई ग्राहक नजर आता दिखाई नहीं दे रहा है। जो की इस बार चिंता का विषय बना हुआ है।

ब्यूरो रिपोर्ट