जागरुक उपभोक्ता समय की आवश्यकता -माली

सादड़ी पाली

जागरुक उपभोक्ता समय की आवश्यकता -माली

सादडी 15मार्च।उपभोक्ता अपने अधिकारों को जाने,अपने कर्तव्यों कि पालना करे ।जागरुक उपभोक्ता समय की आवश्यकता है।जागरुक उपभोक्ता हीअपने हितों की रक्षा कर सकता है।विद्यालयों में गठित उपभोक्ता क्लब इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है।उक्त उद्गार प्रधानाचार्य विजयसिंह माली ने स्थानीय श्रीधनराजबदामिया राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में विश्व उपभोक्ता दिवस पर आयोजित विचार गोष्ठी में व्यक्त किए।माली ने कहा कि आज हमें जागरुक उपभोक्ता बनने का संकल्प लेना है।सरस्वती पूजन से प्रारंभ हुई इस विचार गोष्ठी में सर्व प्रथम कविता कंवर नेउपभोक्ता का अर्थ व उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम की जानकारी दी।कन्हैया लाल ने उपभोक्ता के अधिकार व कर्तव्यों व विद्यालयों में उपभोक्ता क्लब की जानकारी दी।प्रकाश परमार ने जिला ,राज्य व राष्ट्रीय उपभोक्ता मंच की जानकारी दी।इस अवसर पर महावीर प्रसाद,मधु गोस्वामी,मनीषा ओझा ने भी विचार व्यक्त किए। सुशीला सोनी व सरस्वती पालीवाल के निर्देशन में बालिकाओं ने भाषण ,निबंध व चार्ट निर्माण प्रतियोगिता मे भाग लिया।प्रथम ,द्वितीय स्थान प्राप्त कर्ता विद्यार्थियो को प्रधानाचार्य विजय सिंह माली के करकमलों से पारितोषिक वितरित किया गया। इस अवसर पर वीरम राम चौधरी,रमेश सिंह राजपुरोहित,रमेश कुमार वछेटा,नरेंद्र कुमार बोहरा,पुरुषोत्तम समेत समस्त स्टाफ उपस्थित रहा।स्नेहलता गोस्वामी ने आभार व्यक्त किया ।मंच संचालन प्रकाश शिशोदिया ने किया।उल्लेखनीय है कि प्रतिवर्ष 15मार्च को विश्व उपभोक्ता दिवस मनाया जाता है।बयूरो रिपोर्ट ललित दवे